जब PS ग्रुप है तो खुद के ग्रुप में SHO, CO, ASP, SP को क्यों करते हैं शामिल क्यों नही जॉइन करते PS ग्रुप-प्रहलाद गौतम

 | 
जब PS ग्रुप है तो खुद के ग्रुप में SHO, CO, ASP, SP को क्यों करते हैं शामिल क्यों नही जॉइन करते PS ग्रुप-प्रहलाद गौतम

गौरब शुक्ला की रिपोर्ट

लखनऊ-सोशल मीडिया प्रोमोटर  एवं प्रदेश मीडिया सलाहाकार पहलाद गौतम कहते कि समझ मे ये नहीं आता है कि आप लोग SHO, CO, ASP, SP पुलिस डिपार्टमेंट को न्यूज ग्रुप मे क्यूँ शामिल करते हों...? जबकि पुलिस डिपार्टमेंट का खुद अपना अपना PS ग्रुप यानी पुलिस स्टेशन ग्रुप बना हुया उसमे आप सभी पत्रकार और क्षेत्र के सम्मानित लोग शामिल भी हैं। सभी ग्रुप पुलिस के उच्च अधिकारियों के निगरानी मे है।
उसमे अपना स्थानीय सामचार सूचनाएं डालिए
अच्छा लगता है क्या की कोई SHO थाना प्रभारी आपके ग्रुप से लेफ्ट होता हो ।
ज्यादा जरूरी हो तो मीडिया सेल को ग्रुप मे शामिल कर लीजिए।
सभी न्यूज ग्रुप से मेरा व्यक्तिगत सलाह है कि यदि आप लोग अपने न्यूज ग्रुप मे  SHO, CO, ASP यानी पुलिस डिपार्टमेंट को शामिल किए हो तो उन्हें रिमूव कर दें आगे से किसी को भी ग्रुप मे शामिल ना करें, आप लोग उनके PS ग्रुप मे शामिल रहिये और उसमे स्थानीय सूचनाएं या सामचार भेजते रहिये। जिससे आप जो सच दिखाना चाहते हो हो वो जल्द से जल्द सामने आए और हम ज्यादा से ज्यादा समाज की सेवा कर सकें