बुजर्ग पिता ने  बेटे के शव को कंधे पर ले जाकर दफ़नाया

 | 
बुजर्ग पिता ने बेटे के शव को कंधे पर ले जाकर दफ़नाया

सरवन कुमार सिंह की रिपोर्ट

लखनऊ-राजधानी में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण के मामले दिन ब दिन लोगो के हाल बेहाल कर रहे है, अस्पातलो में समस्या की खबरें आरही है वही शमशान ,कबरिस्तान के भी बुरे हाल देखने को मिल रहे है, इसी के चलते राजधानी  में एक ऐसा मामला सामने आया है जहां कोरोना के खौफ के कारण पड़ोसी ही नहीं बल्कि करीबी रिश्तेदार ने भी साथ छोड़ दिया, दरसल लखनऊ के  चिनहट के लौलाई उपकेंद्र के पास एक लाचार पिता के 13 वर्षीय बेटे की मौत हो गई, लेकिन कोरोना संक्रमण के डर से समाज का एक भी शख्स शव को कंधा देने आगे नहीं आया। मजबूरी में बुजुर्ग पिता को अकेले कंधे पर शव को लेकर जाना पड़ा।

बुजुर्ग पिता ने खुद खोदी कब्र, अकेले ले जाकर दफ़नाया

आप को बता दें कि 13 वर्ष के बेटे के बाप ने नाले के पास खुद ही कब्र खोदी, फिर बेटे की लाश को दफन किया। इस दौरान न कोई करीबी रिश्तेदार मौजूद था और न ही आस पड़ोस का कोई व्यक्ति नजर आया। बेटे के गम में रो-रोकर बदहवास सूरजपाल ने बताया कि हफ्ते भर पहले बेटे को बुखार आया था। घर में ही इलाज चल रहा था, लेकिन दो दिन पहले हालत बिगड़ गई, जिससे उसकी मौत हो गई। 
उन्होंने बताया कि बेटे की मौत की खबर सुनकर कोई नहीं आया। पड़ोसी आपस में बेटे की मौत की चर्चा करते रहे लेकिन कंधा देने कोई नहीं आया। उन्होंने बताया कि कोरोना के डर से घर में सब लोग क्वारंटीन है।