कोरोना संक्रमण के कारण अप्रैल एवं मई में हाेने वाली अधिकांश शादियां स्थगित होने के कगार पर ।

 | 
कोरोना संक्रमण के कारण अप्रैल एवं मई में हाेने वाली अधिकांश शादियां स्थगित होने के कगार पर ।

अमर नाथ की रिपोर्ट 

अयोध्या/उत्तर प्रदेश -अगले सप्ताह से शुरू हो रहे लग्न पर कोरोना की काली नजर लग गई है। अप्रैल और मई में पांच हजार से ज्यादा शादियां प्रस्तािवित हैं और ज्यादातर लोगों ने शादी की तैयारियां पूरी कर ली हैं, लेकिन बढ़ते संक्रमण के चलते  एक बार फिर धूमधाम से शादी की उम्मीद लगाए लोगों के सपने को बड़ा झटका लगा है। कोरोना  वायरस को लेकर परेशान सरकार ने एक बार फिर सख्त नियम लागू किए हैं जिसके चलते पहले से तय हो चुकी शादियां या तो स्थगित हो रही हैं, या फिर मेहमानों की संख्या में कटौती करनी पड़ रही है। खासकर शनिवार रविवार  के दिन पड़ने वाली शादियों को स्थगित किया जा रहा है।अप्रैल-मई शादियों का सीजन होता है। शुभ मुहूर्त के चलते इस महीने बड़ी संख्या में लोग शादी के बंधन में बंधते हैं, लेकिन कोरोना की वजह से लागू किए गए नए नियमों के चलते लोगों को अपने प्लान में बदलाव करना पड़ रहा है। दूसरी तरफ, शादियों से अपना रोजगार चलाने वाले साउंड सिस्टम, बैंडबाजा और कैटरिंग सहित कई अन्य लोगों को भी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। कोरोना के प्रभाव से फोटो-वीडियो के साथ ही ट्रैवल्स एजेंसी संचालक भी अछूते नहीं हैं। महामारी और सख्त नियमों की वजह से कई शादियों की बुकिंग स्थिगित की जा रही है। मैरिज हाउस संचालकों के मुताबिक तीन दिनों में सौ से ज्यादा शादियां स्थागित कर दी गई हैं या नवंबर तक टाल दी गई है।