कोविड-19 हॉस्पिटल में इंस्पेक्टर ने डॉक्टर को पीटकर किया अधमरा, आक्रोशित जूनियर डॉक्टर हड़ताल पर

 | 
कोविड-19 हॉस्पिटल में इंस्पेक्टर ने डॉक्टर को पीटकर किया अधमरा, आक्रोशित जूनियर डॉक्टर हड़ताल पर

सरवन कुमार सिंह की रिपोर्ट

प्रयागराज - स्वरूपरानी मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में अस्पताल में शुक्रवार सुबह प्रतापगढ़ में तैनात इंस्पेक्टर की मां की मौत के बाद बवाल हो गया। तीमारदारों ने एक डॉक्टर की जमकर पिटाई कर दी, जिससे वह अधमरा हो गया।

प्रयागराज के स्वरूपरानी मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में अस्पताल में शुक्रवार सुबह प्रतापगढ़ में तैनात इंस्पेक्टर की मां की मौत के बाद बवाल हो गया। तीमारदारों ने एक डॉक्टर की जमकर पिटाई कर दी, जिससे वह अधमरा हो गया। इससे नाराज अस्पताल कर्मचारियों ने इंस्पेक्टर समेत तीनों भाइयों को पीट दिया और इसके बाद हड़ताल कर दिया। घटना दे रात की बताई जा रही है। 
अस्पताल में इलाज बंद होने से हाहाकार मच गया। इस घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस और प्रशासनिक महकमे में हड़कंप मच गया। मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने इंस्पेक्टर को तत्काल सस्पेंड कर उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर विधिक कार्रवाई करने की बात कही, लेकिन जूनियर डॉक्टर मानने को तैयार नहीं  हुए। सुबह से अस्पताल में हड़कंप मचा हुआ है।
प्रतापगढ़ में तैनात इंस्पेक्टर जुल्फिकार की मां 18 अप्रैल से स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल में भर्ती थी। गुरुवार देर रात उनकी हालत गंभीर हो गई। आरोप है कि वह नान कोविड थी और उन्हें कोविड वार्ड में शिफ्ट दिया गया। इसी बात को लेकर इंस्पेक्टर और डॉक्टर से कहासुनी हो गई। इंस्पेक्टर समेत तीनों भाइयों ने डॉक्टर पर हमला कर दिया।
उसका सर फट गया। इससे नाराज अस्पताल कर्मचारियों ने  इंस्पेक्टर समेत तीनों भाइयों को जमकर पीटा। तीनों वहीं अधमरे होकर पड़ गए। इस घटना के बाद से जूनियर डॉक्टर हंगामा करने लगे। उन्होंने अस्पताल का काम छोड़ दिया और हड़ताल पर चले गए। सूचना मिलते ही आईजी केपी सिंह समेत पुलिस के आला अधिकारी व प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंच गए। इंस्पेक्टर के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने और उसे निलंबित करने के आश्वासन पर डाक्टर काम पर लौट आए हैं।