वन विभाग की लापरवाही से विद्यालय के कायाकल्प विकास हुआ अवरूद्ध विद्यालय की सुरक्षा व सौंदर्यीकरण को लगा ग्रहण

 | 
शिखर

ब्यूरो रिपोर्ट सचिन शुक्ला

हरगांव सीतापुर--- हरगांव विकास खंड के अंतर्गत एक ग्राम में एक विद्यालय की कायाकल्प योजना वन विभाग की लापरवाही की भेंट चढ़ गयी ।विद्यालय में  बाउन्ड्रीवाल न होने के कारण चारों तरफ पेडों की कतार खडी है ।जिससे सरकार की महात्वाकांक्षी योजना खटाई में पड गयी दिखती है ।प्रधान के व्दारा कई बार प्रार्थना पत्र दिए जाने के बावजूद भी वन विभाग अपने कर्तव्यों के प्रति जागने का नाम ही नहीं ले रहा है ।प्राप्त जानकारी के अनुसार हरगांव थाना व विकास खंड हरगांव की ग्राम पंचायत अख्त्यारपुर के जूनियर विद्यालय (पूर्व माध्यमिक विद्यालय)में बाउन्ड्रीवाल न होने का कारण विद्यालय को चारों तरफ से पेडों व गन्ने के खेतों ने घेर रखा है ।जिससे उत्तर प्रदेश सरकार की अतिमहात्वाकांक्षी योजना विद्यालयों का कायाकल्प योजना वन विभाग की लापरवाही के कारण पूर्ण नही हो सकी ।ग्राम प्रधान कुलदीप कुमार राठौर ने बताया कि मई 22से लेकर कई बार वन विभाग को पेड़ कटवाने के  संबंध में मेरे व एबीएसए हरगांव के द्वारा वन क्षेत्राधिकारी को प्रार्थना पत्र दिया जा चुका है ।परन्तु वन विभाग की लापरवाही के कारण न पेड काटने की स्वीकृति ही प्राप्त हुई और न विद्यालय के कायाकल्प के अंतर्गत बाउन्ड्रीवाल का निर्माण ही किया जा सका है ।अब प्रश्न यह उठता है कि जब हरगांव का वन विभाग लगातार क्षेत्र में लकडकट्टो के साथ मिलकर हरेभरे हरियाली दार बाग जरा सी देर मे कटवाकर गायब करा देता है ।तो शासन की महत्वपूर्ण योजना में आडे आ रहे स्कूल में लगे पेडों को काटने का आदेश देने में इतनी अडचन क्यों है।शायद वनकर्मियों की जेब भरने का सवाल तो नहीं है ।