चॉकलेट देकर बच्चों से बोली महिला आरक्षी-पढ़ोगे-लिखोगे बनोगे महान

 | 
उत्तर प्रदेश

गौरव शुक्ला की रिपोर्ट


फर्रुखाबाद अभी दो दिन पूर्व ही डीएन कॉलेज में पत्रिका प्रबोधिका के अनावरण अवसर पर मुख्य अतिथि लखनऊ विश्वविद्यालय के हिन्दी विभागाध्यक्ष रहे प्रो.डॉ.हरिशंकर मिश्र ने कहा था आज मानववाद पर नहीं मानवतावाद की राह पर चलने की आवश्यकता है। फतेहगढ़ पुलिस उसी मानवतावाद की राह पर दौड़ निकली है। इसका पूरा श्रेय जाता है कप्तान अशोक कुमार मीणा को।
पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार मीणा ने पुलिस की पहचान ही परिवर्तित कर दी है। अपराधियों में पुलिस के प्रति खौफ है, तो आम आदमी उसे सम्मान के नजरिए से देखता है। कारण है पुलिस के कार्य। अब तक पुलिस कर्मी लोगों की सहायता करते दिख जाया करते थे अब पुलिस ने शिक्षा की अलख जगाने की कमान सम्भाल ली है। फर्रुखाबाद कोतवाली में तैनात महिला आरक्षी मोनिका ने छोटे-छोटे बच्चों को चॉकलेट बांटीं और कहा-पढ़ोगे-लिखोगे तो बनोगे महान। मोनिका ने बच्चों को शिक्षा के महत्व के बारे में बताया, उन्हें समझाया शिक्षा मनुष्य के जीवन में क्या परिवर्तन ला सकती है। जिसने भी देखा उसने महिला आरक्षी के साथ-साथ पुलिस की भूरि-भूरि प्रशंसा की। सचमुच कप्तान श्री मीणा के निर्देशन में फतेहगढ़ पुलिस इस श्लोक को सार्थक कर रही है….
परित्राणाय साधूनाम् विनाशाय च दुष्कृताम्।
धर्मसंस्थापनार्थाय सम्भवामि युगे-युगे।।