कोरोना महामारी के चलते शाम पांच बजे तक 62.35 प्रतिशत मतदान, मेरठ में सर्वाधिक

 | 
कोरोना महामारी के चलते शाम पांच बजे तक 62.35 प्रतिशत मतदान, मेरठ में सर्वाधिक

लखनऊ। कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप के बावजूद उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के तीसरे चरण में भी ग्रामीण मतदाताओं में जबरदस्त उत्साह दिखा। सोमवार को कानपुर देहात, मेरठ, मुरादाबाद व अमेठी समेत प्रदेश के 20 जिलों में कई स्थानों पर हिंसक वारदातों व मतपेटियां लूटने की घटनाओं के बीच सायं पांच बजे तक 62.35 प्रतिशत वोट डाले गए। कोविड प्रोटोकाल की धज्जियां उड़ने और मतदान कर्मियों की मनमानी की शिकायतें भी मिलती रही। अधिकतर स्थानों पर निर्धारित समय छह बजे के बाद भी वोट डालने का काम चलता रहा। 3.5 लाख से अधिक उम्मीदवारों का भविष्य मतपेटियों में बंद हो गया। इससे पहले 15 अप्रैल को संपन्न हुए पहले चरण के चुनाव में 71 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया था, जबकि 19 अप्रैल को हुए दूसरे चरण के चुनाव में 73 प्रतिशत मतदान हुआ। 

गांव में अपनी सरकार चुनने को मतदाताओं ने वोट डालने के लिए सुबह से ही मतदान केंद्रों पर कतार में लगना शुरू कर दिया था। देवरिया, हमीरपुर, अमेठी, बलरामपुर व औरेया जिलों की अपेक्षा अन्य स्थानों में मतदाताओं का उत्साह अधिक था। निर्वाचन आयोग के अनुसार प्रात: नौ बजे तक देवरिया में छह प्रतिशत, हमीरपुर में 8.04 फीसद बलरामपुर में 9.06, अमेठी में 9.38 और औरेया में 9.86 प्रतिशत वोट ही डाले जा सके थे, जबकि मेरठ में 14 प्रतिशत और मुरादाबाद व कानपुर देहात में 12 फीसद तक मतदान हो गया था।

शाम पांच बजे तक 62.35 प्रतिशत मतदान, मेरठ में सर्वाधिक: उत्तर प्रदेश में गांव की सरकार चुनने के लिए सोमवार को चल रहे तीसरे चरण के मतदान ने दोपहर बार फिर तेजी पकड़ी। शाम पांच बजे तक 20 जिलों में 62.35 प्रतिशत मतदान हो गया था। कई जगह बवाल और दो कर्मियों की मौत के बाद भी मतदान चलता रहा। पांच बजे तक मेरठ में सर्वाधिक 69.30 और अमेठी में सबसे कम 55.92 प्रतिशत मतदान हुआ था। शामली में 64.80, मेरठ में 69.30, मुरादाबाद में 64.90, पीलीभीत में 66.59, कासगंज में 65.70, औरैया में 63.87, कानपुर देहात में 60.00, जालौन में 62.50, हमीरपुर में 59.00, फतेहपुर में 59.10, उन्नाव में 62.00, अमेठी में 55.92, बाराबंकी में 64.60, सिद्धार्थनगर में 57.02, देवरिया में 58.73, चंदौली में 59.05, मिर्जापुर में 60.90 और बलिया में 64.97 प्रतिशत मतदान हो गया था। 

औरैया में मतपेटी में पानी डाल भागा मतदाता : औरैया सदर विकासखंड की ग्राम पंचायत लोहियापुर के गांव पातेपुर में शाम करीब 5.45 बजे वोट डालने आए एक मतदाता ने मतपेटी में पानी डाल दिया। किसी को कुछ पता चलता, इसके पहले वह वहां से रफूचक्कर हो गया। पानी की बोतल वह अपने साथ लेकर गया था। दूसरा मतदाता वहां पहुंचा तो जानकारी हुई। इसके बाद दावेदार और उनके समर्थक भी बूथ पर पहुंच गए। उन्होंने हंगामा करना शुरू कर दिया। पुलिस ने मौके पर मौजूद भीड़ को खदेड़ा। आरोपित की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

फतेहपुर में मतपेटी में पानी डालने की कोशिश, के दौरान बवाल, पांच गिरफ्तार: फतेहपुर के हथगाम थाना क्षेत्र के अहिंदा गांव में मतदान के दौरान एक प्रत्याशी समर्थकों ने मतपेटियों के अंदर पानी डालने का प्रयास किया। पुलिस ने रोकने का प्रयास किया तो उपद्रवियों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी। गांव के कंपोजिट स्कूल में बनाए गए मतदान केंद्र पर सोमवार अपराह्न वोटिंग के दौरान कुछ देर के लिए सन्नाटा हुआ तो प्रधान पद के एक प्रत्याशी ने अराजकता फैलाने का प्रयास किया। उसके समर्थकों ने बूथ संख्या 174 के अंदर घुसकर मतपेटियों में पानी डालने की कोशिश की।

इस दौरान मतदान कर्मियों ने प्रयास विफल करते हुए पुलिस कॢमयों की इसकी जानकारी दी। पुलिस कॢमयों ने मौके से ही पांच व्यक्तियों को पकड़ लिया। उपद्रवियों के पकड़े जाने की सूचना पाकर तमाम समर्थक मतदान केंद्र पर ईंट-पत्थर लेकर पहुंच गए। मतदान केंद्र की ओर कुछ पत्थर फेंके गए। पुलिस कॢमयों ने भीड़ को दौड़ाते हुए थाने से अतिरिक्त पुलिस फोर्स भेजे जाने की मांग की। बवाल की सूचना पाकर प्रभारी निरीक्षक आदित्य सिंह मय फोर्स वहां पहुंच गए। कुछ देर बाद एएसपी फतेहपुर व सीओ थरियांव गांव पहुंच गए। गिरफ्तार आरोपितों को लेकर पुलिस फोर्स गांव लौट आया। आधे घंटे तक मतदान की कार्रवाई बाधित रही। आरओ एई सिद्दीकी ने बताया कुछ देर के लिए अफरा-तफरी मच गई थी। 

जालौन में फायरिंग, तीन महिलाओं सहित छह घायल: जालौन के कालपी में फर्जी मतदान को लेकर विवाद इतना बढ़ गया कि दो प्रत्याशी और उनके समर्थकों के बीच मारपीट के दौरान फायरिंग होने लगी। सरैनी गांव में शाम करीब चार बजे प्रधान पद के दो प्रत्याशियों के बीच फर्जी वोट डालने को लेकर हुए विवाद में जमकर लाठी-डंडे चले और फायरिंग हुई। इसके बाद तो गांव में भगदड़ मच गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर स्थिति संभाली। घटना में तीन महिलाओं समेत छह लोग घायल हुए हैं। सबको उपचार के लिए एंबुलेंस से जिला अस्पताल भेजा गया। पुलिस अधीक्षक डॉ. यशवीर सिंह ने बताया कि घटना के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

बलिया में फर्जी मतदान को लेकर हवाई फायरिंग, पथराव: बलिया के दोकटी थाना क्षेत्र के कर्णछपरा गांव में फर्जी मतदान को लेकर बवाल हो गया। इस दौरान प्रधान पद के प्रत्याशियों के समर्थकों ने हवाई फायरिंग भी की। साथ ही पथराव हुआ। वहां भगदड़ की स्थिति बन गई। मतदान के लिए लाइन में लगे वोटर भाग खड़े हुए। मतदान कर्मियों व सुरक्षाकर्मियों ने मतदान केंद्र के कमरों का दरवाजा अंदर से बंद कर लिया। अपर पुलिस अधीक्षक संजय कुमार भारी फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और स्थिति को काबू में किया। मामले में आधा दर्जन लोगों को हिरासत में लिया गया है। ग्राम पंचायत कोडरहा उपरवार में अन्य प्रत्याशियों के अलावा कर्णछपरा के संतोष सिंह व दीपक सिंह भी प्रधान पद के प्रत्याशी हैं। इन्हीं दोनों प्रत्याशियों के समर्थकों के बीच फर्जी मतदान रोकने को लेकर बवाल हुआ था। ग्रामीणों के मुताबिक  दोकटी थानाध्यक्ष से पूर्व में लिखित शिकायत की गई थी। उधर लक्ष्मण छपरा गांव के मतदान केंद्र पर भी फर्जी मतदान को लेकर ढेलेबाजी व हाथापाई हुई है।

मुरादाबाद में फर्जी वोट डालने को लेकर पथराव, मच गई भगदड़: मुरादाबाद के थाना मैनाठेर क्षेत्र की ग्राम पंचायत नानकार में सोमवार सुबह से ही मतदान केंद्र के बाहर दो प्रत्याशियों व उनके समर्थकों में तनातनी चल रही थी। दोपहर के समय नईम अहमद के पक्ष ने दूसरे पक्ष पर फर्जी वोटिंग कराने का आरोप लगाते हुए हंगामा करना शुरू कर दिया। देखते ही देखते दोनों पक्षों के लोग आमने-सामने आ गए। आरोप है कि नईम अहमद ने अपने लोगों के साथ मिलकर दूसरे पक्ष पर पथराव कर दिया। पथराव होते ही मतदान केंद्र पर अफरा-तफरी का माहौल बन गया। मतदाताओं में भी भगदड़ मच गई।

मौके पर तैनात फोर्स ने किसी तरह बवाल कर रहे लोगों को दौड़ाया। पथराव की जानकारी मिलते ही सीओ इंदु सिद्धार्थ मय फोर्स के साथ मौके पर पहुंची और मामले की जानकारी ली। पुलिस ने नईम पक्ष से तीन लोगों को हिरासत में लिया है। पथराव के बाद अतिरिक्त फोर्स की तैनाती की गई। प्रभारी निरीक्षक रामवीर सिंह ने बताया कि नईम का घर बूथ के पास ही है, वहीं से पथराव हुआ है। पथराव करने वालों की तलाश को रही है।

प्रदेश के 20 जिलों में एक बजे तक 36.39 प्रतिशत मतदानप्रदेश में गांव की सरकार बनाने के लिए तीसरे चरण के मतदान के दौरान कुछ जगह पर झड़प और फायरिंग की घटना के बाद भी मतदान जारी है। 20 जिलों में दोपहर तक बड़ी संख्या में वोटर उमड़े। प्रदेश के 20 जिलों में एक बजे तक 36.39 प्रतिशत मतदान हुआ।भीषण गर्मी के बीच अब गति थोड़ी धीमी पड़ी है। दोपहर में एक बजे तक शामली में 39.40, मेरठ में 38.66 प्रतिशत, मुरादाबाद में 38.20, पीलीभीत में 39.35, कासगंज में 38.73, फिरोजाबाद में 39.67, औरैया में 38.29, कानपुर देहात में 33.00, जालौन में 34.00, हमीरपुर में 35.08, फतेहपुर में 35.03, उन्नाव में 32.80, अमेठी में 36.54, बाराबंकी में 34.00, बलरामपुर में 34.90, सिद्धार्थनगर में देवरिया में 35.22, चंदौली में 35.88, मिर्जापुर में 34.58 तथा बलिया में 35.49 प्रतिशत वोट पड़े हैं। 

मेरठ में उमड़े वोटर: प्रदेश में गांव की सरकार बनाने के लिए तीसरे चरण के मतदान के दौरान कुछ जगह पर झड़प और फायरिंग की घटना के बाद भी मतदान जारी है। 20 जिलों में दोपहर तक बड़ी संख्या में वोटर उमड़े। भीषण गर्मी के बीच अब गति थोड़ी धीमी पड़ी है। दोपहर में एक बजे तक मेरठ में 38.66 प्रतिशत, बाराबंकी में 35.00, हमीरपुर में 36.49, बलरामपुर में 34.40, औरैया में 34.58, कानपुर देहात में 34.00, देवरिया में 35.00, सिद्धार्थनगर में 37.00, पीलीभीत में 39.35, चंदौली में 35.88, मीरजापुर में 34.58 तथा बलिया में 35.49 प्रतिशत मतदान हो गया था। 

देवरिया में कृषि मंत्री ने डाला वोट: प्रदेश के कृषि मंत्री और देवरिया के पथरदेवा से विधायक सूर्य प्रताप शाही ने भी मतदान किया। सोमवार को गोरखपुर मंडल के देवरिया और बस्ती मंडल के सिद्धार्थ नगर में उत्साह के साथ मतदान जारी है। उत्साह के बीच कोविड प्रोटोकाल दरिकनार हो गया है। देवरिया में एक बजे तक करीब 35 फीसद मतदान हो चुका था, जबकि सिद्धार्थनगर में 37 फीसद।

कृषि सूर्य प्रताप शाही भी देवरिया के पथरदेवा ब्लाक स्थित अपने गांव पकहां के बूथ पर मतदान करने पहुंचे। शाही ने कहा कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सभी  कोविड प्रोटोकाल का ध्यान रखें। लोकतंत्र में मतदान सभी का अधिकार है। सभी लोग दो गज की दूरी मास्क है जरूरी नियम का अनुपालन करते हुए मतदान करें।

चुनाव में लगे दो कर्मियों का निधन : उत्तर प्रदेश में गांव की सरकार के गठन के लिए तीसरे चरण के मतदान में ड्यूटी के दौरान फिरोजाबाद में एक होम गार्ड तथा अमेठी में शिक्षा विभाग के एक कर्मचारी की मौत हो गई।फीरोजाबाद के शिकोहाबाद थाना क्षेत्र के गांव जमालीपुर में चुनाव ड्यूटी करने के दौरान 55 वर्षीय होमगार्ड रविन्द्र सिंह की हालत बिगड़ गई। इसके कुछ देर ही बाद उनकी मौत हो गयी। अमेठी के सिंहपुर के बूथ संख्या 169 पंहौना में एक तृतीय मतदान अधिकारी की मौत हो गई है। उनकी मतदान शुरू होने से पहले ही तड़के बूथ पर ही मौत हो गई। सर्वोदय इंटर कालेज पिंडारा में परिचारक के पद पर कार्यरत मृतक की मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो पा रहा है। रिटर्निंग ऑफिसर ने ने बताया कि शव को यहां सीएचसी में रखवाकर जिला विद्यालय निरीक्षक व स्वजन को सूचना दी गयी है।

फिरोजाबाद में फायरिंग, पुलिस व पीठासीन अधिकारी की गाड़ी तोड़ीपंचायत चुनाव में सोमवार को तीसरे चरण के मतदान के दौरान उन्नाव के बाद फिरोजाबाद में भी मारपीट हुई है। यहां पर जसराना तहसील के गांव नगला परदुमन में प्रधान प्रत्याशी गुरुवेश व बलवीर पक्ष के समर्थकों में संघर्ष हो गया।

इस दौरान फायरिंग के साथ 132 पोलिंग बूथ का सुरक्षा बेड़ा तोडऩे का प्रयास हुआ। इसके बाद पुलिस और पीठासीन अधिकारी की गाडिय़ों में तोडफ़ोड़ की गई। यहां पर 83 वोट पड़ चुके थे। इसके बाद अफरातफरी मची और डीएम के साथ एसपी भी एसएसपी मौके पर पहुंचे। 

उन्नाव में बेटी ने विदा होने से पहले वोट डाला : उन्नाव में सोमवार के एक बेटी ने लाल जोड़े में ससुराल विदा होने पहले दूल्हन ने अपना वोट डालकर सबको मतदान के प्रेरित किया। विदाई से पहले गांव की बेटी सोनी ने मतदान केंद्र पहुंचकर अपना फर्ज निभाया और वोट डालने के बाद लोगों से मतदान करने की अपील की।

सोनी ने कहा कि लोकतंत्र में सबको अपने मताधिकार का उपयोग करना चाहिए, लोग घरों से निकलकर वोट डालें। इस दौरान मतदान केंद्र पर मौजूद लोगों ने कहा कि बेटी ने हमारा दिल जीत लिया। उन्नाव के सहजनी क्षेत्र में शादी के फेरे लेने के बाद और विदाई से पहले क्षेत्र की बेटी ने अपना फर्ज निभाया। दुल्हन सोनी अपना वोट डालने के लिए पति के साथ सहजनी स्थित प्रथमिक विद्यालय में बने मतदान केंद्र पहुंची और अपना वोट डाला।

उन्नाव में प्रधान पद के प्रत्याशियों के बीच विवाद में फायरिंग, एक घायल: उन्नाव में पंचायत चुनाव के मतदान के दौरान बवाल हो गया। यहां के चर्चित माखी थाना के जगदीशपुर गांव में प्रधान पद के दो प्रत्याशियों के बीच विवाद हो गया। विवाद बढऩे पर एक हिस्ट्रीशीटर ने अपने समर्थकों के साथ फायरिंग कर दी। जिसमें एक प्रत्याशी के पिता को गोली लगी है। परिवार के लोग उसे हैलट अस्पताल कानपुर ले गए हैं। गांव में हिस्ट्रीशीटर के पिता गंगाप्रसाद यादव और जयदीप सिंह प्रधान पद का चुनाव लड़ रहे हैं। मतदान शुरू होने के बमुश्किल आधा घंटा के अंदर ही दोनों प्रत्याशियों के बीच विवाद हो गया। गहमा गहमी के बीच गंगाप्रसाद के पुत्र ने समर्थकों के साथ फायरिंग कर दी। प्रत्याशी जयदीप सिंह के पिता सुमंत सिंह को कमर के नीचे गोली लगी है। घायल सुमंत सिंह को हैलट अस्पताल कानपुर में भर्ती कराया गया है। एएसपी शशि शेखर ने बताया कि थाना माखी में बलबा और जानलेवा हमले की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है, जिसमें प्रत्याशी गंगा प्रसाद के पुत्र हिस्ट्रीशीटर अंशू यादव उर्फ अनुराग यादव निवासी जगदीशपुर थाना माखी को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

मतदाताओं में उत्साह, नौ बजे तक बाराबंकी में 11.30 प्रतिशत मतदान: उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के तीसरे चरण के मतदान के दौरान लोग अपने अधिकार का जमकर प्रयोग कर रहे हैं। करीब एक दर्जन जगह पर बैलट पेपर तथा बूथ की लिस्ट की गड़बड़ी की शिकायत के बीच में पहले दो घंटे यानी नौ बजे तक काफी मतदान हो गया है। बीस जिलों में से नौ बजे तक बाराबंकी में 11.30, पीलीभीत में 11.00, मीरजापुर में 10.00 तथा औरैया में 9.70 प्रतिशत मतदान हो गया था। 

प्रातः 9 बजे तक 10.27 प्रतिशत वोट डाले गए: पंचायत चुनाव के तीसरे चरण में 20 जिलों में हो रहे मतदान में प्रातः 9 बजे तक 10.27 प्रतिशत वोट डाले गए। सर्वाधिक वोटिंग कानपुर व मुरादाबाद में 12 फीसद हुआ। सबसे कम देवरिया में छह प्रतिशत मतदान हुआ।

अमेठी में फर्जी मतदान, पुलिस ने दो को पकड़ा: कभी कांग्रेस के बड़े गढ़ रहे अमेठी में आज गांव की सरकार चुकी जा रही है। यहां पर लोग सुबह से ही लाइन में खड़े हैं। इसी दौरान फर्जी मतदान का भी प्रयास किया गया। जिसके बाद पुलिस ने दो लोगों को पकड़ा है। यहां के गौरीगंज विकास खंड के गूजरटोला बूथ पर फर्जी मतदान करते दो युवकों को पुलिस ने पकड़ा है। फर्जी मतदान की शिकायत मिलने पर पुलिस इनको कोतवाली ले गई है।

भीषण गर्मी तथा भीड़ से बचने के लिए लोग सुबह से ही मतदान केंद्रों में जुट गए हैं। प्रदेश में आज अमेठी, उन्नाव, औरय्या, कानपुर देहात, कासगंज, चन्दौली, जालौन, देवरिया, पीलीभीत, फतेहपुर, फिरोजाबाद, बलरामपुर, बलिया, बाराबंकी, मेरठ, मुरादाबाद, मिर्जापुर, शामली, सिद्धार्थनगर और हमीरपुर जिलों में मतदान हो रहा है।

अमेठी में भी मतदाता उत्साहित: केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के संसदीय क्षेत्र अमेठी के 2430 बूथों पर वोटिंग हो रही है। जिले में 942 मतदान केंद्रों पर 2430 बूथ हैं। यहां 15 लाख 43 हजार 647 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर रहे हैं। जिले में सकुशल चुनाव कराने के लिए जिला प्रशासन ने 13 जोन व 98 सेक्टर बनाए हैं। यहां पर चुनाव कराने के लिए कुल 2916 पीठासीन अधिकारियों को लगाया गया है। जिलाधिकारी अरुण कुमार ने बताया कि ग्राम प्रधान के तीन व क्षेत्र पंचायत सदस्य के 13 उम्मीवार पहले ही निॢवरोध निर्वाचित हो चुके हैं।  

मुरादाबाद में 2437 मतदेय स्थलों पर मतदान: पीतलनगरी मुरादाबाद तो प्रदेश के पंचायती राज मंत्री चौधरी भूपेंद्र सिंह का गृह जनपद भी है। यहां पर आज 2437 मतदेय स्थलों पर कड़ी सुरक्षा में मतदान शुरू हो गया है। यहां के कुल 1468329 मतदाता गांव की सरकार चुनने के लिए मताधिकार का प्रयोग करेंगे। 8311 पदों के लिए कुल 19704 प्रत्याशी मैदान में हैं।

मुरादाबाद के आठ ब्लाकों की 643 ग्राम पंचायतों में कुल 1468329 मतदाता जिला पंचायत सदस्य, ग्राम प्रधान, क्षेत्र पंचायत सदस्य और ग्राम पंचायत सदस्य के लिए मतदान करेंगे। 1742 ग्राम पंचायत सदस्य और 12 बीडीसी निॢवरोध हो गए हैं। अब सभी पदों के लिए 19704 प्रत्याशी मैदान में हैं। मतदाता इन्हीं के भाग्य पर फैसला करेंगे। जिले में 598 मतदान केंद्रों को सामान्य श्रेणी में रखा गया है। 118 मतदान केंद्र संवेदनशील और 82 अतिसंवेदनशील की श्रेणी में रखा है। संवेदनशील और अतिसंवेदनशील मतदान केंद्रों पर सुरक्षा के अतिरिक्त इंतजाम किए गए हैं। इन केंद्रों की वीडियोग्राफी होगी। इस बार मतदाता पुनरीक्षण कार्यक्रम के दौरान जिले में 95958 हजार युवा वोटरों के नाम मतदाता सूचियों में दर्ज हुए हैं। यही वोटर पंचायत चुनाव में मुख्य निर्णायक की भूमिका में रहेंगे। आयोग ने कोरोना की गाइडलाइन का पालन कराते हुए चुनाव कराने के निर्देश दिए गए हैं। दो मई को मतणगना के दिन प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला होगा। 

मतदान केंद्रों पर कड़ा सुरक्षा घेरा: तीसरे चरण के मतदान के दौरान पुलिस का कड़ा पहरा है। प्रत्याशियों से लेकर उनके खास समर्थकों पर सीधी नजर रखी जा रही है। इस दौरान सभी पुलिसकर्मियों को कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन कराने का कड़ा निर्देश भी दिया गया है। फीरोजाबाद, कासगंज, फतेहपुर, हमीरपुर, पीलीभीत, मुरादाबाद, देवरिया, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, कानपुर देहात, औरैया, जालौन, उन्नाव, बाराबंकी, अमेठी, मेरठ, शामली, चंदौली, बलिया व मीरजापुर में चप्पे-चप्पे पर पुलिस का पहरा है। इन जिलों के 20727 मतदान केंद्रों के 49798 मतदेय स्थलों पर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त है।

प्रदेश के एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि तीसरे चरण के मतदान के लिए 509 निरीक्षक, 7600 उपनिरीक्षक, 15736 मुख्य आरक्षी, 56251 आरक्षी, 66444 होमगार्ड, 2473 पीआरडी जवान व 6282 रिक्रूट आरक्षी मुस्तैद हैं। इसके अलावा 55 कंपनी व दो प्लाटून पीएसी व दस कंपनी सीएपीएफ के जवान भी संवेदनशील क्षेत्रों में मुस्तैद है। प्रदेश में सात मार्च से विशेष अभियान के तहत पुलिस कार्रवाई की जा रही है, जिससे पंचायत चुनाव को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराया जा सके। अब तक 2613 अवैध असलहों के साथ ही प्रदेश में 171 अवैध शस्त्र फैक्ट्रियां पकड़ी गईं। इसी दौरान अवैध शराब के कारोबार में लिप्त 20 हजार से अधिक आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। पिछले चुनाव के दौरान हुई घटनाओं के 5140 आरोपितों की निगरानी भी की जा रही है। पंचायत चुनाव में लाइसेंसी शस्त्रों के दुरूपयोग की आशंका के चलते अब तक सूबे मेंं 7.28 लाख से अधिक लाइसेंसी शस्त्र जमा कराए जा चुके हैं। 

मेरठ में पीठासीन अधिकारी से मारपीट: मेरठ के मोदीपुरम के दुल्हेड़ा गांव में कल देर रात पीठासीन अधिकारी मतदान केंद्र से अपना बैग लेकर बाहर आ रहे थे। इस बैग में कागज थे। इसी दौरान केंद्र के बाहर खड़े लोगों ने शोर मचा दिया कि पीठासीन अधिकारी बैलट पेपर लेकर जा रहे हैं। इसके बाद हंगामा करती भीड़ ने पीठासीन अधिकारी को घेर लिया।

विरोध करने पर पीठासीन अधिकारी संग मारपीट कर दी। इस दौरान उनका बैग नाली में गिर गया, जिसे भीड़ से कोई उठाकर ले गया। पुलिस मौके पर पहुची और पीठासीन अधिकारी को भीड़ से बचाकर थाने ले गई। इंस्पेक्टर देवेश कुमार शर्मा का कहना है कि आरोप झूठे पाए गए हैं। बैलेट पेपर और पेटी मतदान केंद्र में सुरक्षित हैं, पीठासीन अधिकारी भी सुरक्षित हैं। मामले की जांच एसडीएम सरधना कर रहे हैं।