क्यों अपनी औलाद को जंजीर मे बांधकर रखते हैं ये मां बाप

शाहजहांपुरः कहते हैं कि दुनिया में माता-पिता से बड़ा कोई हितैषी नहीं होता। वही पहले शिक्षक होते हैं और पहले दोस्त भी उनके लिए भी औलाद से बढ़कर कोई नहीं होता। ऐसे में शाहजहांपुर से दिल को रूला देने वाली खबर आई है। जहां मां-बाप अपने 16 साल के बेटे को जंजीरों में जकड़ कर रखते
 | 
क्यों अपनी औलाद को जंजीर मे बांधकर रखते हैं ये मां बाप

शाहजहांपुरः कहते हैं कि दुनिया में माता-पिता से बड़ा कोई हितैषी नहीं होता। वही पहले शिक्षक होते हैं और पहले दोस्त भी उनके लिए भी औलाद से बढ़कर कोई नहीं होता। ऐसे में शाहजहांपुर से दिल को रूला देने वाली खबर आई है। जहां मां-बाप अपने 16 साल के बेटे को जंजीरों में जकड़ कर रखते हैं।क्यों अपनी औलाद को जंजीर मे बांधकर रखते हैं ये मां बाप

बता दें कि यह परिवार जिला मुख्यालय से करीब 15 किलोमीटर दूर सिमरिया सहसपुर गांव में रहता है। अनमोल के पिता राम किशोर मेनहत मजदूरी करके परिवार का पेट पालते हैं। करीब 4 साल पहले अनमोल बिमार पड़ गया था। परिजनों ने बहुत इलाज कराया।लेकिन कुछ भी फायदा नहीं हुआ। धीरे-धीरे बच्चा बिमारियों की जकड़ में आता गया और अचानक पागलों जैसी हरकतें करने लगा था।

क्यों अपनी औलाद को जंजीर मे बांधकर रखते हैं ये मां बाप
बच्चे की मां

मानसिक रूप से कमजोर हो चुका बच्चा घर के बाहर लोगों को नुकसान पहुंचाने लगा। घर के बाहर आने जाने वालों पर हमला करने लगा। जब लोगों ने इसकी शिकायत परिवार से की तो मजबूरी में आकर उन्हें अपने बच्चे को घर के अंदर जंजीरों से बांधकर रखना पड़ रहा है। जंजीरों से बांधने के बाद भी मां बाप बेटे को खाने से लेकर पानी और उसकी फरमाईश पूरी कर रहे हैं।