कंपनी के प्रमुख से शीघ्र बात करेंगे कहां केंद्रीय इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने

 | 
कंपनी के प्रमुख से शीघ्र बात करेंगे कहां केंद्रीय इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने

शेखर की रिपोर्ट

बोकारो स्टील अथॉरिटी इंडिया लिमिटेड समेत सेक्टर की इकाई आरआईएनएल वह मेकन में अधिकारी कर्मचारी की लंबित वेतन पुनरीक्षण के मामले पर केंद्र इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान संबंधी कंपनी के प्रमुख से शीघ्र वार्ता करेंगे इस दौरान उक्त सभी कंपनी ने पे रिवीजन में हो रही देरी पर सरकार प्रबंधक का पक्ष लेने के बाद आगे की रणनीति तैयार करेगी बताते जाय की बोकारो स्टील प्लांट की किम्स के महामंत्री द्वारा एक दिवसीय बंद अप्रैल में बुलाया गया था जिसको देखते हुए सेल डिविजन में हड़कंप मच गई थी जिसके कारण 6 घंटा काम बाधित रहा ऐसे में सेल को करोड़ों का नुकसान सहना पड़ा बताया जा रहा है कि सार्वजनिक लोक उपक्रम की अन्य कंपनी में संयुक्त कर्मियों को वेतन पुनरीक्षण का लाभ दिया जाने के बाद इस्पात मंत्रालय अपने अधीन शेष बचे अन्य कंपनी से भी इसका लाभ जल्द कर्मियों को देने का निर्णय ली है इसी के मातहत इस्पात मंत्री स्वय सेल आर आई एन एल व मेकान के प्रमुख अधिकारी के साथ वर्चुअल बैठक करेंगे बैठक में वेतन मसौदे का समाधान सिग्रह कर कंपनी की वित्तीय पहलुओं पर मंत्रियों अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश देंगे क्रांतिकारी मजदूर संघ के महामंत्री ने कहा चालू वित्त वर्ष में सेल को 6000 करोड़ से ज्यादा का मुनाफा हुई है यही नहीं कारोंना  महामारी में सभी सेलकर्मी में एकजुट होकर विधि राज्य में मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति कर रहे हैं ऐसे में उन्हें वेतन पुनरीक्षण के लाभ से वंचित रखना सरासर गलत है पीएमओ द्वारा इस्पात मंत्रालय को मामले की समाधान का निर्देश दिए जाने के बाद मंत्री स्वयं पे रिवीजन का हल निकालने की तैयारी में है मालूम हो कि सेल से अधिकारी व कर्मचारी दोनों का पे रिवीजन 1 जनवरी 2017 से लंबित है इसके लिए प्रबंधक अधिकारी व कर्मचारी दोनों संगठन के साथ बैठक का दौर जारी रखी है सेफी इसके समाधान के लिए प्रधानमंत्री से हस्तक्षेप करने की मांग की थी सेल सहित अन्य स्टील सेक्टर में पे रिवीजन पर पहल करने के लिए पीएमओ से गुहार लगाए थे जिसके बाद इस्पात मंत्री इस पर सक्रिय हो गया है अब देखना है कि आने वाले दिनों में संयंत्र कर्मियों को पे रिवीजन का लाभ कंपनी प्रबंधक वहीं आ कर आएगी कि नहीं