विद्युत विभाग के अधिकारी शासन की सारी हदें लांघ कर दिया ट्रांसफर

 | 
विद्युत विभाग के अधिकारी शासन की सारी हदें लांघ कर दिया ट्रांसफर

निखिल कश्यप की रिपोर्ट

शासन कह रही है, बुजुर्ग व्यक्ति घर मे रहे और बुजुर्गों का हो रहा ट्रांसफर, क्या ट्रांसफर होने से कोरोना नही फैलेगा ।

छत्तीसगढ़ में कोरोना महामारी का विस्फोटक चरम सीमा पर और विद्युत विभाग के अधिकारी कर रहे अपनी मनमानी

केंद्र सरकार श्री नरेंद्र मोदी जी व राज्य सरकार श्री भूपेश बघेल जी एक तरफ गाइडलाइन जारी कर जनता को संबोधित कर रहे हैं,घर पर ही रहे बाहर ना निकले,वहीं छत्तीसगढ़ का विद्युत विभाग कर रहा अपना मनमानी

अभी विद्युत विभाग में अधिकारी कर्मचारी का प्रमोशन हुआ है, प्रमोशन के नाम से अधिकारी अपनी मनमाने तरीके से ट्रांसफर करने में लग गए है, एक जिला के कर्मचारी अधिकारी को दूसरे जिला भेजा जा रहा है, जबकि जिस कर्मचारी का प्रमोशन जिस आफिस से हुआ है वहाँ भी वो पोस्ट खाली है जिस पोस्ट में कर्मचारी प्रमोशन हो कर जा रहे है, ऐसे में छत्तीसगढ़ शासन,सरकार,
का नियम व क़ानून आम जनता के लिए हैं या कानून सबके लिए बराबर है यह संदेह के घेरे में है, केंद्र सरकार, लॉक डाउन का नियमों से पालन करें, जान है, तो जहान है, कह रही है । 

 छत्तीसगढ़ में प्रमोशन के नाम पर ट्रांसफर जारी हो रहा है, जो सरकार और विद्युत विभाग के अधिकारियों को संदेह के घेरे में लाकर खड़ा कर रही है । 

 ऐसे समय में, विद्युत अधिकारी की लापरवाही से छत्तीसगढ़ शासन प्रशासन पर कई सवाल खड़े हो रहे हैं ।  कहीं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री, भूपेश बघेल जी, पर कई सवाल,उठ  रहे हैं ।
 वहीं छत्तीसगढ़ में धारा 144 लागू है। 

शासन प्रशासन के कई कर्मचारी जिसमे हॉस्पिटल विभाग, पुलिस विभाग, विद्युत विभाग अपना जान जोखिम खतरे में डाल कर सरकार की नौकरी कर रहे है और उन्हें जान नॉकरी में डालने का यही ईनाम मिल रहा है । हद तो तब हो गई जिसकी नॉकरी साल दो साल बचा है, जो साठ साल पार कर चुके है, ऐसे समय मे सरकार और विभाग जिंदगी भर आपने सेवा किये करके रिटायरमेंट के समय उन्हें घर के नजदीक पोस्टिंग करती है, किन्तु विभाग उन्हें एक जिले से दूसरे जिले या 2-3 जिले छोड़कर घर से कही दूर बतौर  जैसे सजा दे रही हो बहुत दूर भेजा जा रहा है, जहाँ एक बुजुर्ग को घर परिवार के लोगो की जरूरत होती है ऐसे अंतिम समय मे सरकार और विद्युत विभाग जिंदगी भर नॉकरी करने का बहुत बढ़िया इनाम दे रही है । लानत है ऐसे अधिकारी और ऐसी सरकार पर, जिसे अपने कर्मचारियों का ही ख्याल नही है ।

 जहां पुलिस विभाग मनचले युवकों को कई जगह कोरोना नियमो का पालन नही करने पर चालान भी काटे जा रही है । 

 तो वहीं विद्युत विभाग कोरोना के सारे नियमों को ताक में रखकर, प्रमोशन के नाम पर अपने कर्मचारियों को ट्रांसफर आदेश थमा रही है । 

 यहाँ डॉक्टर और पुलिस विभागों की करोना वारियर्स,  के नाम पर कहीं-कहीं पर फूल बरसाए जा रहे हैं । 
 छत्तीसगढ़ सरकार की कुछ विभाग, उनकी छवि को धूमिल करने में लगे हुए हैं । 

देखो देखो कका भूपेश बघेल कैसे आपके शासन में आपके एको बात ला नही मान के आपके बात के अवहेलना करत है, अब थोड़ा बहुत भी शर्म बचे होही विभाग के अधिकारी मन ला तो अभी भी समय हे, नही ते अब बस यही देखना है आप अउ आपके अधिकारी में कितना शर्म बचे है ।