इस गांव में पसरा सन्नाटा, लोग घरों में दुबके लॉक डाउन का स्वस्फूर्त कर रहे पालन

 | 
इस गांव में पसरा सन्नाटा, लोग घरों में दुबके लॉक डाउन का स्वस्फूर्त कर रहे पालन

रेशम वर्मा कि रिपोर्ट 

कसडोल-बढ़ते कोरोना महामारी के प्रकोप से जहाँ जिला बलौदाबाजार मे जिलाधीश के द्वारा जारी दिशानिर्देशो का कड़ाई से पालन भी किया जा रहा है। वनांचल क्षेत्र का गांव रिकोकला में लोगों की आवाजाही पूरी तरह बंद है इससे गालियां सुनी दिखाई दे रही हैं। यह उस छोटे से गांव की कोरो कोरोना के प्रति जागरूकता ही है कि गांव के लोग अपने जन प्रतिनिधियों के बातों को मान रहे हैं। इस तरह अपनी सुरक्षा स्वयं कर रहे हैं। गांव में यदि किसी तरह कोई बीमार पड़ता है तब मितानिन की सहयोग से तुरंत अस्पताल लेजाकर जांच करवाते हैं।
इस तरह ग्राम पंचायत रिकोकला मे लोगो की आवाजाहि की जानकारी लेने पर पता चला कि हर जगह सन्नाटा है। चौक -चौराहे, गलियों मे, बाजार, पड़ाव के आस -पास किसी भी तरह की कोई आवजाही देखने को नहीं मिल रही है। इससे साफ है की लोगो के द्वारा कोरोना के प्रति जागरूकता बढ़ी है।
इस संबंध मे ग्राम पंचायत रिकोकला के सरपंच सुरेंद्र साहू,ब्लॉक सोनाखान के मीडिया प्रभारी प्रमोद कुमार साहू के द्वारा उनकी राय लेने पर उनके द्वारा बताया गया की लोगो को जागरूक करने का काम किया जा रहा है। एवं वर्तमान मे कोरोना परिदृश्य को देखते हुए लोगो को अधिक से अधिक कोविड जाँच कराने की अपील हमारे द्वारा की जा रही है।वही इस संबंध मे साहू समाज रिकोकला के परिक्षेत्र उपाध्यक्ष राजकुमार साहू से चर्चा हुई उनका कहना है की वर्तमान मे हमारे रिकोकला गाँव की स्थिति संतोष प्रद है लोगो के मन मे कोरोना के प्रति जो भय था वो काफ़ी हद तक कम हुआ है। लक्षण वाले व्यक्ति की पहचान कर तत्पश्चात उसकी जाँच कराने मितानिनो का सहयोग भी लिया जा रहा है।