गाँव में भी तेजी से फैल रही बीमारियां,मरीजो को नही मिल पा रहा उपचार।

 | 
गाँव में भी तेजी से फैल रही बीमारियां,मरीजो को नही मिल पा रहा उपचार।

देवेश कटियार की रिपोर्ट

जलालाबाद(कन्नौज)- कोरोना संक्रमण और वायरल बुखार से दिक्कतें बढ़ रही हैं। ज्यादातर गांवों में लोग बुखार, खांसी, जुकाम और सिरदर्द से परेशान हैं। सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की ओपीडी बंद है। इससे कई किलोमीटर धूप में चलकर दवा लेने आए लोग झोलाछाप से इलाज के लिए मजबूर हो रहे। इनके यहां भीड़ हो रही है। झोलाछाप इस मौके का फायदा उठाकर तगड़ी कमाई कर रहे हैं।
लोगों के स्वास्थ्य का ध्यान रखने वाला महकमा खुद बीमार है। जलालाबाद प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर चार कर्मचारी तैनात हैं। फार्मासिस्ट नवीन सचान चुनाव ड्यूटी के बाद से कोरोना पॉजिटिव हैं। डॉ रीता सेंगर अस्वस्थ होने से अस्पताल नहीं आ रहीं। लैब असिस्टेंट सीपी पांडेय की सीएचसी पर कोरोना टेस्टिंग में ड्यूटी है। ऐसे में अकेले वार्ड ब्वाय रवि कुमार अस्पताल में मौजूद हैं। रवि ने बताया कि स्टाफ न होने से यहां मरीजों को नहीं देखा जा रहा। सामान्य बीमार लोग बिना दवा के लौट रहे हैं।
वहीं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर तैनात डॉ. अनिल यादव ने बताया कि शासन के निर्देश पर ओपीडी बंद है। स्वास्थ्य सेवाएं चल रही हैं। इमरजेंसी में कोई मरीज नहीं है। केंद्र पर टीकाकरण व कोविड की जांच चल रही है। एक टीम जिला जेल में कोविड जांच के लिए गई है। स्वास्थ्य केंद्र पर तैनात कई लोग कोरोना पॉजिटिव हैं। लोगों के इलाज में परेशानी हो रही है। अस्पताल में कोई भी इमरजेंसी मरीज नहीं है।