प्रशासन की टीम रुकवाया ने नाबालिग का विवाह

 | 
प्रशासन की टीम रुकवाया ने नाबालिग का विवाह

जनवरी से अब तक जिलें में 9 बाल विवाह रोकनें में हुए कामयाब

जागेशवर प्रसाद वर्मा कि रिपोर्ट 

बलौदाबाजार-कलेक्टर सुनील कुमार जैन के निर्देश पर जिलें में किसी भी नाबालिगों का शादी ना हो उसके लिए लगातार नजर रखी जा रहीं हैं। गाँव के जनप्रतिनिधियों के सहयोग से आज पुनः महिला बाल विकास विभाग एवं पुलिस विभाग की सँयुक्त टीम ने कार्रवाई करतें हुए एक नाबालिग का विवाह रुकवाया। जिला कार्यक्रम अधिकारी एल आर कच्छप ने बताया कि आज जिला प्रशासन को यह सूचना मिली थी कि कसडोल विकासखण्ड के अंतर्गत ग्राम खरहा के  स्थानीय निवासी परिवर्तित नाम रमेश का विवाह रायपुर साकरा निवासी के साथ में दिनांक 29 एवं 30 अप्रैल को विवाह होना तय हुआ था। जो कि नाबालिग है। जिस पर विभाग ने तत्काल कार्रवाई करतें हुए कसडोल परियोजना अधिकारी महिला बाल विकास राजेश क्षीरसागर के नेतृत्व में बाल विवाह रोकने हेतु टीम गठित की गई,टीम में पुलिस विभाग के भारत सेठ,राम कुमार ध्रुव पर्यवेक्षक लक्ष्मी साहू बाल संरक्षण इकाई से अर्चना तथा स्थानी पंच सम्मिलित रहे।
सभी ने गांव में जाकर के परिवार वालों से मुलाकात किया एवं मौके पर ही लड़के का अंक सूची का अवलोकन  किया गया। जिसमें उनका जन्मतिथि 3अप्रैल 2003 अंकित था। इस तरह से उनका उम्र 21 वर्ष से कम था। इस आधार पर टीम द्वारा परिवार के सदस्यों एवं बुजुर्गो को समझाइश दी गई तथा शासन का निर्देश से अवगत कराया गया। विवाह नहीं रोकने पर कानूनी कार्रवाई करने की भी चेतावनी दी गई जिस पर परिवार द्वारा सहमति दिया गया। परिवार के सदस्यों द्वारा पंचनामा एवं घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर करवाया गया। इस तरह समझाइश  से बाल विवाह रोकने पर सहमति दी गई। जिला प्रशासन द्वारा बाल विवाह पर लगातार चौकस रहने और मौके पर बाल विवाह रोकने में सफलता प्राप्त करने से बाल विवाह कराने वालों के हौसले पस्त हो गए हैं। कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने टीम को बधाई देतें हुए सभी जिला वासियों अपील किया है,कि बाल विवाह कि कोई भी घटना अपने आस पास होती है तो वह पुलिस कन्ट्रोल रूम 100 एवं चाइल्ड लाइन 1098 के माध्यम से भी सूचना एवं शिकायत दर्ज करा जा सकती है।