एक जमाती की लगातार दो रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उन्हें पूरी तरह से स्वस्थ घोषित

मनोज उनियाल की रिपोर्ट शिमला – हिमाचल प्रदेश में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या अब सात रह गई है। जालंधर की कंपनी में काम करने वाले कांगड़ा और चंबा के दोनों युवकों, ऊना के एक जमाती की लगातार दो रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उन्हें पूरी तरह से स्वस्थ घोषित कर दिया है। इसके अलावा
 | 
एक जमाती की लगातार दो रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उन्हें पूरी तरह से स्वस्थ घोषित

मनोज उनियाल की रिपोर्ट

शिमला – हिमाचल प्रदेश में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या अब सात रह गई है। जालंधर की कंपनी में काम करने वाले कांगड़ा और चंबा के दोनों युवकों, ऊना के एक जमाती की लगातार दो रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उन्हें पूरी तरह से स्वस्थ घोषित कर दिया है। इसके अलावा हमीरपुर के दोनों कोरोना पीडि़तों की पहली रिपोर्ट नेगेटिव आई है। अब इन दोनों के शुक्रवार को दोबारा सैंपल लिए जाएंगे। इसके चलते सब कुछ ठीक-ठाक रहा, तो पहली मई को प्रदेश में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या पांच रह जाएगी। गुरुवार को कांगड़ा के अनूही (जवाली) और चंबा के सिंहुता गांव के युवक की दूसरी रिपोर्ट नेगेटिव आई। जालंधर से लौटे इन दोनों युवकों में 16 अप्रैल को कोरोना के लक्षणों की पुष्टि हुई थी। इसके अलावा ऊना के एक जमाती की दूसरी रिपोर्ट भी नेगेटिव आई है। वह भी ठीक हो गया है। इसी बीच, राज्य सरकार ने अब नेरचौक और पालमपुर में भी टेस्ट करने शुरू कर दिए हैं। गुरुवार को प्रदेश भर से 361 लोगों  के सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे। खबर लिखे जाने तक इनमें से 359 सैंपल की जांच रिपोर्ट नेगेटिव पाई गई थी, जबकि दो की जांच रिपोर्ट आनी अभी बाकी थी। प्रदेश में इस समय तक 6133 लोगों की जांच की जा चुकी है। इनमें से 6091 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव पाई गई है एवं 40 व्यक्तियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) आरडी धीमान ने बताया कि प्रदेश में गुरुवार को तीन और कोविड-19 पॉजिटिव मरीजों की जांच रिपोर्ट नेगेटिव पाई जा चुकी है। अब प्रदेश में केवल सात मरीज ही कोविड-19 के इलाज के लिए विभिन्न सस्थानों में दाखिल हैं। कोविड-19  वैश्विक महामारी के इस दौर में अन्य जिलों व राज्यों से काफी संख्या में लोग पास लेकर प्रदेश में आ रहे हैं। प्रदेश में प्रवेश करने वाले ऐसे सभी व्यक्तियों की प्रवेश द्वार पर मेडिकल जांच की जा रही है और उसके बाद उन्हें 14 दिन तक होम क्वारंटाइन में रहने के निर्देश दिए जा रहे हैं। होम क्वारंटाइन में रहने वाले सभी लोगों की निगरानी पुलिस, पंचायत प्रतिनिधि तथा पंचायत सचिवों के साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग कर रहा है। कोई भी व्यक्ति अगर होम क्वारंटाइन के निर्देशों का उल्लंघन कर रहा है, तो उसके खिलाफ  सख्त कार्रवाई की जाएगी।

कोरोना अब तक

निगरानी में            11693

क्वारंटाइन पीरियड    6067

कुल सैंपल            6133

कुल नेगेटिव           6091

कुल पॉजिटिव         40

ठीक हुए               28

पॉजिटिव (माइग्रेटिड)04

उपचाराधीन           07

कोरोना से मौत        01