कोविड संक्रमण रोकने को उठाए और भी एहतियाती कदम, हरियाणा में आज से सायं 6 बजे बंद होंगे बाजार

 | 
कोविड संक्रमण रोकने को उठाए और भी एहतियाती कदम, हरियाणा में आज से सायं 6 बजे बंद होंगे बाजार

चंडीगढ़। हरियाणा सरकार ने कोरोना के लगातार बढ़ रहे केसों को देखते हुए शुक्रवार से प्रदेश के सभी बाजार तथा व्यापारिक प्रतिष्ठानों को शाम छह बजे बंद करने का फैसला किया है। वहीं, कल शाम 6 बजे से शराब की दुकानें भी बंद होंगी। इस संबंध में प्रदेश के सभी जिला उपायुक्तों तथा पुलिस अधीक्षकों को सूचित कर दिया गया है।

हरियाणा सरकार द्वारा बनाई गई राज्य स्तरीय कोरोना मानीटरिंग कमेटी के अध्यक्ष एवं गृहमंत्री अनिल विज ने बृहस्पतिवार को बताया कि कोरोना पर काबू पाने के लिए सख्त कदम उठाने अनिवार्य हैं, जिसके चलते आज की बैठक में फैसला लिया गया है कि शुक्रवार से प्रदेश के सभी शहरों तथा कस्बों में बाजार शाम छह बजे बंद कर दिए जाएंगे। इससे मार्केट में भीड़ जमा नहीं होगी।

अनिल विज ने कहा कि इस दौरान प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा गैरजरूरी भीड़ को जमा होने से रोका जाएगा। जिन लोगों द्वारा शाम के समय कोरोना गाइडलाइन के साथ जरूरी कार्य किए जाएंगे उन्हें पहले संबंधित एसडीएम की मंजूरी लेनी होगी।

अनिल विज ने कहा कि कोरोना को लेकर रोजाना रिव्यू किया जा रहा है। अभी प्रदेश में लाकडाउन जैसी स्थिति नहीं है, लेकिन कोरोना पर काबू पाने के लिए सख्त कदम उठाने होंगे, जिसके चलते मार्केट को शाम छह बजे बंद करने का फैसला लिया गया है। उन्होंने लोगों से भी सरकार को सहयोग करने का आह्वान किया और कहा कि उनकी खुद की सावधानी में ही बचाव है।

आज हरियाणा की कैबिनेट बैठक भी हुई, जिसमें भीड़भाड़ वाले बाजार बंद करने का फैसला लिया गया। इससे पहले आज विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने विधायकों के साथ वर्चुअल संवाद किया। इसमें भी कई विधायकों ने बाजार बंद करने की मांग की थी। 

वहीं, हरियाणा में कोरोना से राहत दिलाने वाली दवा रेमडेसिविर की कालाबाजारी की घटनाओं के बाद राज्य सरकार ने फैसला किया है कि यह दवा अब आधार कार्ड दिखाने पर ही मिलेगी। रेमडेसिविर विक्रेता संबंधित व्यक्ति के आधार कार्ड की एंट्री करेंगे। हरियाणा में पिछले एक सप्ताह के दौरान रेमडेसिविर की कालाबाजारी की कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं। गुरुग्राम में पुलिस द्वारा अवैध रूप से जमा रेमडेसिविर इंजेक्शन पकड़े जा चुके हैं और पंचकूला में एक व्यक्ति को स्टिंग कर कालाबाजारी करते हुए पकड़कर उसके पास से 16 इंजेक्शन बरामद किए गए हैं। अब तक चार लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। इसके अलावा प्रदेश के अन्य शहरों से भी इस दवाई की कालाबाजारी की खबरें आ रही थी।

इसके चलते बुधवार को स्वास्थ्य विभाग की रिव्यू बैठक के दौरान सरकार ने फैसला किया है कि रेमडेसिविर के इंजेक्शन मांगने वालों के आधार कार्ड चेक किए जाएंगे। राज्य सरकार ने प्रदेश के सभी अधिकृत दवा विक्रेताओं को निर्देश जारी किए हैं कि वह आधार कार्ड एंट्री के बाद ही यह दवा दें। इस संबंध में जिला स्तर पर अधिकारियों को निर्देश जारी किए गए हैं कि वह अपने-अपने क्षेेत्रों का दौरा कर सुनिश्चित करें कि उनके क्षेत्र में रेमडेसिविर की कालाबाजारी न हो।