केजरीवाल ने हरियाणा के सीएम से मांगी मदद, पानीपत में दिल्ली की ऑक्सीजन रोकने का आरोप

 | 
केजरीवाल ने हरियाणा के सीएम से मांगी मदद, पानीपत में दिल्ली की ऑक्सीजन रोकने का आरोप

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार की ओर से दी गई एक जानकारी के मुताबिक पानीपत के एक ऑक्सीजन प्लांट से दिल्ली आने वाली ऑक्सीजन की खेप को रोक दिया गया है। ऐसी घटनाओं को देखते हुए अब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से फोन पर संपर्क किया है। इस चर्चा के दौरान केजरीवाल ने ऑक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल से अपील की है। हरियाणा के मुख्यमंत्री के साथ हुई बातचीत का खुलासा करते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, "मैंने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से बात की। दिल्ली तक ऑक्सीजन सप्लाई के लिए उनका सहयोग मांगा। उन्होंने पूरा समर्थन देने का आश्वासन दिया है। मैं केंद्र सरकार और हरियाणा सरकार से आग्रह करता हूं कि कृपया ऑक्सीजन वाहनों को सुगम मार्ग प्रदान करें।"

इसके अलावा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ऑक्सीजन के मुद्दे पर उड़ीसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से भी बात की है। दिल्ली को अपने कोटे की ऑक्सीजन का एक बड़ा हिस्सा उड़ीसा से प्राप्त होना है। सीएम केजरीवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने दिल्ली को उड़ीसा से ऑक्सीजन का कोटा उठाने की सुविधा देने में पूर्ण समर्थन देने का आश्वासन दिया है। उन्होंने एक अधिकारी को इसी काम पर लगाया है। धन्यवाद सर। दिल्ली वास्तव में आपकी आभारी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि, "देश के लोग देख रहे हैं कि दिल्ली में आने वाला ट्रक किसी और राज्य ने रोक दिया। मध्यप्रदेश में जाने वाला ट्रक उस राज्य ने रोक दिया। यह तो ठीक नहीं है, लोग यह नहीं चाहते हैं। देश के लोग आज यह देखना चाहते हैं कि दिल्ली ने किसी दूसरे की मदद कैसे की, उत्तर प्रदेश ने किसी राज्य की कैसे मदद की। हमें एक साथ मिलकर आपदा से लड़ना है, तभी भारत बचेगा। अभी तो समय यह है कि उत्तर प्रदेश वाला, दिल्ली की मदद करें, दिल्ली वाला हरियाणा की मदद करे, हरियाणा वाला बिहार की मदद करे और बिहार वाला गुजरात की मदद करे। हम सारे लोग एक-दूसरे की मदद करेंगे, तभी तो भारत बचेगा। इतनी मुश्किल घड़ी में भी हम सारे एक-दूसरे से लड़ने लग गए और इस समय अगर भारत राज्यों में बंट गया, तो फिर भारत को कौन बचाएगा।"

केजरीवाल ने कहा कि मेरी सारी नागरिकों और सारी सरकारों से अपील है कि आइए, मिलकर, एक होकर लड़ते हैं। अगर मिलकर लड़े, तो एक मुट्ठी बनेगी। हमारे सारे संसाधन मिलकर एक साथ इस्तेमाल होंगे, हमारी ताकत बढ़ेगी, हमारी शक्ति बढ़ेगी और हम बंट गए, तो फिर कोई हमें नहीं बचा पाएगा।

सीएम ने कहा कि, "मैं सभी राज्य सरकारों से कहना चाहता हूं कि दिल्ली का मुख्यमंत्री होने के नाते मेरे से जो बन पड़ेगा, मेरे हाथ में जो होगा, आप मुझसे मांगिए, मैं दूंगा। हम पूरे देश की मदद करेंगे। अगर दिल्ली में हमारे पास ऑक्सीजन जरूरत से ज्यादा होगी, तो हम दूसरे राज्यों को ऑक्सीजन देंगे। अगर हमारे पास किसी दवाई की ज्यादा मात्रा होगी, तो वह भी हम दूसरे राज्य के साथ बांटेंगे और जब दिल्ली में कोरोना कम होगा और किसी दूसरे राज्य में डॉक्टर की जरूरत हुई, तो हम वहां डॉक्टर्स भी भेजेंगे।"