रुड़की में दिव्यांग बच्चे के उपचार के नाम पर उसके हाथ-पांव मोड़े औ ज्यादा जोर से पेट दबाकर की हत्या

 | 
रुड़की में दिव्यांग बच्चे के उपचार के नाम पर उसके हाथ-पांव मोड़े औ ज्यादा जोर से पेट दबाकर की हत्या

रुड़की। हरिद्वार जिले के रुड़की में एक शख्स ने दिव्यांग बच्चे के उपचार के नाम पर उसके हाथ-पांव  ज्यादा जोर से दबा दिए। इससे बच्चे की मौके पर ही मौत हो गई। बच्चे की मौत के बाद आरोपित मौके से फरार हो गया। फिलहाल, पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है। 

रुड़की के खेमपुर निवासी दिलशाद ने बताया कि उसका 12 साल का बेटा अब्दुल कलाम दिव्यांग था। उसके हाथ-पांव काम नहीं करते थे। यही नहीं वह ठीक से बोल भी नहीं पाता था। सोमवार शाम को एक व्यक्ति वहां आया। व्यक्ति उनकी पत्नी से मिला। उसकी पत्नी बच्चे को लेकर काफी परेशान रहती है। इसी के चलते उसने बच्चे की दिव्यांगता के बारे में उसे बताया। व्यक्ति ने बताया कि वह बच्चे को ठीक कर देगा।

इस पर वह व्यक्ति को घर के अंदर ले आई। उसने बच्चे के उपचार के नाम पर उसके हाथ-पांव मोड़े साथ ही उसका पेट भी दबा दिया। कुछ ही देर में बच्चे की मौत हो गई। यह देख वो मौके से फरार हो गया। मामले की जानकारी मंगलौर कोतवाली पुलिस को दी गई। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया।