मजदूरो के शोषण के विरोध मे किम्स ने सीआरएम में आक्रोश प्रदर्शन किया।

 | 
मजदूरो के शोषण के विरोध मे किम्स ने सीआरएम में आक्रोश प्रदर्शन किया।

शेखर की रिपोर्ट
 

बोकारो :- शीत बेलन शाला 1&2 मे क्रान्तिकारी इस्पात मजदूर संघ  (एच. एम .एस) ने ठेका मजदूरो के शोषण के विरोध मे एक विराट आक्रोश प्रदर्शन किया। प्रदर्शन मे सैकड़ो मजदूरो ने भाग लिया। प्रदर्शन को संबोधित करते हुए महामंत्री सह सदस्य एनजेसीएस राजेंद्र सिंह ने कहा कि आज सी.आर.एम 1&2 प्रबंधन मे भ्रष्टाचार चरम सीमा पर पहुँच चुका है। ECL जहां बीएसएल कर्मचारी पर्याप्त मात्रा मे उपलब्ध है वहा भी वर्तमान मुख्य महाप्रबंधक एवम् परिचालन महाप्रबंधक ठेकेदार से सांठगांठ कर निविदा निकाल रहे है और पैसे का बंदरबांट धड़ल्ले से कर रहे है। सी.आर.एम 1&2 मे जहा पहले 73 क्रेन आपरेटर ठेका मजदूरो से काम लिया जाता था उसको घटकर 53 कर दिया गया है।उसमे से अधिकांश मजदूर हमारे युनियन के सदस्य है इसलिए किसी खास युनियन के दवाब मे मुख्य महाप्रबंधक और परिचालन महाप्रबंधक उन मजदूरो को भी हटाने का प्रयास किया जा रहा है।उन्होंने सी.आर.एम. 1&2 प्रबंधन को चेतावनी देते हुए कहा कि भारत सरकार के दिशा - निर्देश के बावजूद अगर कोरोना संक्रमण काल मे किसी मजदूर को बाहर निकाला गया तो प्रबंधन अंजाम भुगताने के लिए तैयार रहे। अन्त मे उन्होंने सभी कार्यकर्ताओ से अपील किया कि 20 अप्रैल  को सभी कार्यकर्ता मेन गेट पर 4:30 बजे एकत्रित हो और वहा से रैली के रूप मे पास सेक्सन पहुंच कर वेज रिवीजन के समर्थन में 06 मई को आहुत सम्पूर्ण सेल के हड़ताल के लिए प्रबंधन को हड़ताल नोटिस दे। प्रदर्शन को श्री सिंह के अलावे पी के देव, शशिभूषण, लक्ष्मण सिंह, आर एल लाल, एस एन सिंह, पी. पी. भगत, पंकज कुमार, एस एन सिंह, भीष्म नारायण, अरूण कुमार, गौतम सिंह चौधरी, राजेश महतो ने संबोधित किया।