जिले भर में स्थिति संस्थान के आंकड़ों का भी सच अगर उजागर हो गया तो हालात बेहद डरावने होंगे 

 | 
जिले भर में स्थिति संस्थान के आंकड़ों का भी सच अगर उजागर हो गया तो हालात बेहद डरावने होंगे

 शेखर की रिपोर्ट

बोकारो जिले मैं करोना संक्रमण पूरी रफ्तार में है वही मौत की संख्या में इजाफा हुआ है सरकारी आंकड़ों मैं करोना से 12 मौत होने का दावा कर रहा है वहीं दूसरी ओर श्मशान के रजिस्टर में 40 करो ना संक्रमित का दाह संस्कार किए जाने की बात वहां की पुजारी ने कहा है इन्होंने करो ना से हुई उन मौतों का आंकड़ा शामिल नहीं है जिन्होंने घर में बुखार की दवा खाते हुए दम तोड़ दीया यही वजह यही वजह है इस दौरान 125 शव जलाए गए हैं जो सामान्य दिनों के हिसाब से 2 गुना के करीब कहां आंकड़ा है करो ना यह दूसरी लहर ने जब से रफ्तार पकड़ी है प्रशासन हर रोज दो और तीन मौत की बात बता रहा है पर अकेले चार्ट  श्मशान घाट में 29 दिन में 400 से अधिक साहू का अंतिम संस्कार हो चुका है अन्य समुदाय के लोगों की गिनती उनकी आबादी के हिसाब से अलग है पर पूरा सिस्टम कह रहा है कि ऑल इज वेल पर साहब यह बहुत कुछ गड़बड़ है यह आता तो एक प्रखंड का है जिले भर में स्थिति संस्थान के आंकड़ों का भी सच अगर उजागर हो गया तो हालात बेहद डरावने होंगे इस बात से बिल्कुल भी इनकार नहीं किया जा सकता है अब तो यह हाल हो गया है साहब श्मशान में लकड़ी का अभाव कहां श्मशान घाट के पुजारी ने