गुरुद्वारा बंदीछोड़ पतशाही ੬ तुमड़ीबोड के सेवादार द्वारा घायल युवकों का इलाज करवाया गया

 | 
छत्तीसगढ़

कमलेश यादव की रिपोर्ट

राजनांदगांव:-परहित सरिस धरम नहिं भाई,परोपकार की भावना ही वास्तव में मनुष्य को ‘मनुष्य’ बनाती है।गुरुद्वारा बंदीछोड़ पतशाही ੬ तुमड़ीबोड के सेवादार ज्ञानी नरिन्दर सिंह के द्वारा,तुमड़ीबोड के पास बाइक से गिरे दो युवकों का इलाज स्वास्थ्य केंद्र में करवाया गया।गौरतलब है कि भिलाई पावर हाउस के रहने वाले युवक राहुल और धर्मेंद्र किसी काम से टप्पा जा रहे थे अचानक रास्ते मे गाय से टकराकर नीचे गिर गए जिससे घुटने और कंधे पर हल्की मोच आ गई थी।सेवादार ज्ञानी नरिन्दर सिंह के द्वारा त्वरित चिकित्सा सुविधा मुहैया करवाया गया।गुरुद्वारा से सेवादार कहते है कि,मनुष्य की बस एक ही जाति हो मनुष्यता की,उसका सिर्फ एक ही धर्म हो इंसानियत का, उसका सिर्फ एक ही नारा हो मानवीयता का।