बोकारो गरगा श्मशान घाट में सव जलाने को लेकर गुंडई देखने को मिल रहा है कहां परिजन  ने

 | 
बोकारो गरगा श्मशान घाट में सव जलाने को लेकर गुंडई देखने को मिल रहा है कहां परिजन ने

 शेखर की रिपोर्ट

एक तो कोरोना का कहर दूसरी ओर श्मशान घाट में सव जनाने को लेकर गुंडई देखने को मिल रहा है आज चास थाना की पुलिस ने तफ्तीश श्मशान घाट पर नशेड़ी ओ को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा और उनके इस बात की चेतावनी दी कि यदि वह श्मशान घाट के आसपास दिखे तो फिर जेल जाएंगे बताया जा रहा है कि पुलिस द्वारा पिटाई के पीछे मामला यह था कि यह नशेड़ी युवक चास गरगा पल स्थित मां काली शमशान घाट पर पहले से नशा किया करते थे इन दिनों कोरोना संक्रमित साहब का अंतिम संस्कार करने के लिए 5 से ₹10 हज़ार की वसूली करने लगे थे क्योंकि कोरोना संक्रमित सव का अंतिम संस्कार में बहुत कम लोग पहुंचते हैं इसी का यह नशेड़ी फायदा उठाने लगे बताया जा रहा है कि नशेड़ी नहीं लोगों से पहले मदद के लिए के नाम पर कुछ राशि लेनी शुरू की बीते दिनों में जैसे ही इन्हें इस बात की जानकारी मिलती थी कि सब कोरोना मरीज का है इसके बाद परिजनों से यह लोग सौदा करने लगे हर दिन 5 से 10 साल के अंतिम संस्कार में यह लोग मदद करने के नाम पर काम किया करते थे इस बात की शिकायत जब श्मशान घाट प्रबंधक समिति को मिली तो उन लोगों ने इस बात की शिकायत एसडीएम उन्होंने चास पुलिस को ऐसे अवांछित तत्वों के खिलाफ करवाई का निर्देश दिया वैसे युवकों की पहचान की जो कि मैं बेवजह श्मशान घाट में में बैठे हुए थे पहले उनसे पूछताछ की और सही जवाब नहीं देने पर पिटाई की पुलिस ने दौड़ा-दौड़ा कर पिटाई की श्मशान घाट पर अधीक्षक जलाने के पीछे सबसे बड़ा कारण यह है कि सुविधा है श्मशान घाट में एक संस्थान समिति बनी हुई है समिति मात्र ₹300 प्रति मन की दर से लकड़ी उपलब्ध कराती है ₹500 रजिस्ट्रेशन शुल्क के रूप में वसूली करती है जिसे श्मशान घाट की साफ-सफाई पानी की व्यवस्था एवं अन्य काम किए जाते हैं