बाप - बेटा गिरफ्तार, घर में नकली सेनेटाइजर बनाने का चल रहा था अवैध धंधा

 | 
छत्तीसगढ़
हरिश साहू की रिपोर्ट
रायपुर । राजधानी रायपुर में नकली सैनिटाइजर बनाने वाले बाप-बेटे की जोड़ी पर ड्रग डिपार्टमेंट और पुलिस ने कार्रवाई की है। अधिकारियों ने जब रायपुर के शैलेंद्र इलाके के एक घर में छापा मारा। जब टीम घर के अंदर पहुंची, तो कई कर्टन में सैनिटाइजर भरा पड़ा था।
पूछताछ करने पर पता चला कि आपदा को अवसर बनाकर ये कारोबारी परिवार सैनिटाइजर में पानी मिलाकर डबल मुनाफा कमाने में लगा हुआ था। इसके चलते इनसे खरीदे गए सैनिटाइजर पर भरोसा कर कई लोग संक्रमित भी हुए और कुछ की संक्रमण से जान भी चली गई होगी। इन आरोपियों की पहचान बाप अशोक अग्रवाल और बेटा आशीष अग्रवाल के तौर पर हुई।
जानकारी के मुताबिक, छापेमारी के दौरान ड्रग डिपार्टमेंट के अधिकारियों ने आरोपी आशीष और उसके पिता अशोक अग्रवाल से पूछताछ की। पूरे घर की छानबीन की। ड्रग डिपार्टमेंट की टीम को घर से कैमिकल के कई बड़े बॉक्स मिले। एक कमरे में कैमिकल की मिक्सिंग का सेटअप मिला।
शुरुआती जांच में पता चला कि ये कारोबारी दूसरी कंपनियों से सैनिटाइजर खरीदते थे। इसके बाद इसमें पानी मिलाकर सैनिटाइजर बोतलों में बंद करते थे। फिर एक ब्रांड का स्टीकर लगाकर रायपुर और आसपास के क्षेत्रों में सप्लाई करते थे। जांच टीम ने यहां से सामान जब्त कर लिया है। साथ ही कैमिकल के सैंपल लिए हैं, जिसकी जांच की जाएगी।
लोकल कारोबारियों पर होगी कार्रवाई
आरोपी का माल बाजार में बेचने वाले कारोबारियों पर कार्रवाई करने की बात छापामार टीम में शामिल अधिकारी कह रहे है। जिम्मेदारों की मानें तो आरोपी के साथ देने वाले सभी लोगों का पता लगाया जाएगा और उसके बाद अभियान चलाकर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
केमिकल व पानी मिलाकर बढ़ाता था मात्रा
छापामार टीम में शामिल अधिकारियों ने बताया कि आरोपी थोक में फैक्ट्रियों से सेनिटाइजर खरीदता था। सेनिटाइजर को घर की अवैध फैक्ट्री में केमिकल व पानी मिलाकर बढ़ाता था और फिर उसे 1 लीटर व 5 लीटर के डिब्बों में बंद करके बाजार में खपा देता था। आरोपी जिस केमिकल का इस्तेमाल सेनिटाइजर बनाने में कर रहा था, उसे अंधापन और स्किन की बीमारी होने की बात छापामार टीम में शामिल सदस्यों ने कही है।
मुखबिर की सूचना पर पुलिस की टीम के साथ दबिश देकर सेनिटाइजर, केमिकल व सामान जब्त किया है। सेनिटाइजर को जांच के लिए लैब भेजा है ।