आज से दिहाड़ी मजदूरों और किसानों को छूट

मनोज उनियाल की रिपोर्ट निर्माण कार्यों की सशर्त मिलेगी अनुमति, इलेक्ट्रॉनिक्स दुकानें भी दो दिन खोलने की इजाजत शिमला – हिमाचल प्रदेश में तीन मई तक लॉकडाउन की बंदिशें जारी रहेंगी। रविवार रात 12 बजे से प्रदेश को वही राहतें मिलेंगी, जो केंद्र सरकार ने जारी की हैं। केंद्र सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी गाइडलाइन
 | 
आज से दिहाड़ी मजदूरों और किसानों को छूट

मनोज उनियाल की रिपोर्ट

निर्माण कार्यों की सशर्त मिलेगी अनुमति, इलेक्ट्रॉनिक्स दुकानें भी दो दिन खोलने की इजाजत

शिमला – हिमाचल प्रदेश में तीन मई तक लॉकडाउन की बंदिशें जारी रहेंगी। रविवार रात 12 बजे से प्रदेश को वही राहतें मिलेंगी, जो केंद्र सरकार ने जारी की हैं। केंद्र सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी गाइडलाइन पर ही यहां भी छूट होगी। पब्लिक ट्रांसपोर्ट को नहीं खोला गया है, वहीं हर जिला मजिस्ट्रेट अपने जिला के हिसाब से खुद अधिसूचना जारी करेंगे। सरकारी दफ्तरों में पहले की तरह ही प्रशासनिक सचिव आएंगे, वहीं विभागाध्यक्ष भी पहुंचेंगे, जो अपने साथ जरूरी स्टाफ को बुला सकते हैं। अभी सभी कर्मचारियों के लिए सरकार ने दफ्तर नहीं खोले हैं। रविवार को हिमाचल सरकार के मुख्य सचिव अनिल खाची ने आदेश जारी किए हैं, जिनमें बताया गया है कि कौन से क्षेत्रों को छूट, किस तरह से रहेगी, केंद्र सरकार ने क्या नियम तय किए हैं, जिनके अनुसार हिमाचल भी चलेगा। लोगों को काफी ज्यादा उम्मीद थी कि हिमाचल में राहत मिल सकेगी, लेकिन प्रधानमंत्री के निर्देशों की अनुपालना करते हुए यहां भी लॉक डाउन को तीन मई तक बढ़ाया गया है। इस दौरान प्रदेश में गुड्स कैरियर वाहनों में चालक के अलावा सिर्फ एक को बैठने की इजाजत होगी, वहीं इलेक्ट्रॉनिक्स गुड्ज से जुड़ी दुकानें तय समय में सप्ताह में दो बार ही खुल सकेंगी। सरकार ने केंद्र की तर्ज पर निर्णय लिया है कि प्रदेश में मनरेगा, पीडब्ल्यूडी, आईपीएच, बिजली बोर्ड, नगर निगम के निर्माण कार्यों को शुरू कर दिया जाएगा। इतना ही नहीं ग्रामीण क्षेत्रों में लोग अपने निजी निर्माण भी कर सकेंगे, मगर सभी प्रकार के निर्माण कार्य के लिए संबंधित क्षेत्र के एसडीएम से पास लेना जरूरी होगा। कृषि, बागबानी, मत्स्य व पशु पालन के कार्यों की मूवमेंट पर छूट रहेगी, वहीं लोकमित्र केंद्र, आंगनबाड़ी केंद्र, प्राइवेट सिक्योरिटी सर्विस का काम चल सकेगा, जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी होगी। सोशल डिस्टेंसिंग की अवहेलना हुई तो छूट को रद्द किया जा सकता है। सरकार ने साफ किया है कि बिना मास्क कोई भी व्यक्ति बाहर नहीं निकलेगा, जिस पर सख्ती रहेगी। कंस्ट्रक्शन के दौरान लेबर के बीच छह फुट दूरी रहेगी, जिसकी अवहेलना नहीं कर सकते। अंतिम संस्कार में 20 से ज्यादा लोग नहीं होंगे। राज्य में शराब ठेके, गुटका, तंबाकू उत्पाद का कारोबार पूरी तरह से बंद रखा जाएगा, जिसमें राहत नहीं दी जा रही है। वहीं इंटर डिस्ट्रिक्ट, इंटर स्टेट आवाजाही की कोई अनुमति नहीं होगी। इस दौरान धार्मिक आयोजनों पर पाबंदी लागू रहेगी। शिक्षण संस्थान और कोचिंग सेंटर बंद रहेंगे। हालांकि जिला के डीएम पर बहुत कुछ निर्भर करेगा कि वहां की परिस्थितियों के मद्देनजर वह किस जिला में क्या-क्या बंदिशें व क्या-क्या छूट देना चाहते हैं। इसे लेकर सोमवार को जिला स्तर पर आदेश जारी होंगे।

शराब ठेकों पर जारी रहेंगी पाबंदियां

हिमाचल सरकार ने स्पष्ट किया है कि प्रदेश में शराब ठेकों पर पाबंदियां जारी रहेंगी।इसके अलावा गुटका, तंबाकू उत्पाद का कारोबार पूरी तरह से बंद रखा जाएगा, जिसमें राहत नहीं दी जा रही है। इस दौरान धार्मिक आयोजनों पर पाबंदी लागू रहेगी। शिक्षण संस्थान और कोचिंग सेंटर बंद रहेंगे।

छूट पर अंतिम फैसला डीसी लेंगे

केंद्रीय गृह मंत्रालय की तर्ज पर हिमाचल सरकार ने छूटों को ऐलान तो कर दिया है, लेकिन संबंधित जिलों के डीसी पर ही अंतिम रूप से निर्भर करेगा कि वहां की परिस्थितियों के मद्देनजर वह क्या-क्या बंदिशें व क्या-क्या छूट देना चाहते हैं। इसे लेकर सोमवार को जिला स्तर पर आदेश जारी होंगे।