निराशा के बीच आशा की किरण जगा,डॉक्टरों की सलाह मान होम आईसोलेशन मे रहकर वैष्णव दंपति ने दी कोरोना को मात

 | 
निराशा के बीच आशा की किरण जगा,डॉक्टरों की सलाह मान होम आईसोलेशन मे रहकर वैष्णव दंपति ने दी कोरोना को मात

जागेशवर प्रसाद वर्मा कि रिपोर्ट 

बलौदाबाजार-जहाँ चारो ओर कोरोना की खबर से लोगो का मनोबल टूट रहा है,वहीं बलौदाबाजार जिले में लोगो में निराशा की जगह आशा की किरण दिखाकर डॉक्टरों की टीम कोरोना मरीजों को होम आईसोलेशन मे रखकर स्वस्थ कर रहे हैं। ऐसी ही निराशा के बीच ग्राम रवान के वैष्णव दंपति ने कोरोना वायरस को मात दी है। ग्राम रवान के वैष्णव दंपति को 15 दिन पूर्व बुखार व सर्दी की शिकायत हुई। साथ ही भोजन बेस्वाद व खुशबू भी गंधहीन लगने लगा। कोरोना टेस्ट करवाया तो पॉजिटिव आया । ऐसे मे घर में छोटे बच्चे भी थे जिनको देखकर वे कोविड हास्पिटल जाने की सोच रहे थे। पर डाक्टरों ने सलाह दी कि यदि  दवाई का बराबर सेवन करेंगे तथा कोविड नियमों का पालन करेंगे तो जल्द स्वस्थ हो जायेंगे । ऐसे मे उन्होंने घर पर ही रहकर दवाई लेना प्रारंभ किया । लगातार समाचारो मे हो रही मौतों और आक्सीजन की कमी से मन बैठा जा रहा था पर डाक्टर लगातार ढाँढस बढा़ते रहे।जिसका सुखद परिणाम मिला और पंद्रह दिनो तक डॉक्टरों की सलाह व दवाईयो का सेवन कर ग्राम रवान वार्ड न 3 निवासी मनहरण वैष्णव  उम्र 59 वर्ष व उनकी पत्नी आज पूर्णतया स्वस्थ हो गये। इस संबंध मे मनहरण वैष्णव ने बताया कि एक बारगी तो लगातार समाचारों को देख लगा कि हम भी अब इस दुनिया मे नही रहेंगे पर डॉक्टरों ने लगातार हमसे संपर्क कर मनोबल बढा़ये और उनकी सलाह मानकर आज हमारा परिवार पूर्णतः स्वस्थ हो गया है। सभी से यही अनुरोध करूंगा कि इस विकट स्थिति मे अपना मनोबल न टुटने देवें। आत्मविश्वास को बनाये रखे और डॉक्टरों कीसलाह पर दवाईयों का सेवन करें सभी जल्द स्वस्थ हो जायेंगे।