जनता के साथ मिलकर जनसुनवाई का होगा जोरदार विरोध, अडानी के मंसूबो को पूरा होने नहीं दिया जाएगा : डॉ प्रेमचंद जायसी

 | 
अनुराग साहू

अनुराग साहू कि रिपोर्ट 

मस्तूरी- जिला मुख्यालय के मस्तुरी विधानसभा क्षेत्र के ग्राम बोहारडीह,गोडाडीह, लोहरसी,भुरकुंडा, विद्याडीह टागर एवम केवटाडीह टांगर में एसीसी(अडानी) सीमेंट का मेगा प्लांट न खुलने का क्षेत्र के ग्रामीणों, किसानो, जनप्रतिनिधियों सहित क्षेत्रवासियों द्वारा लगातार विरोध किया जा रहा है इसी तारतम्य में प्रस्तावित एसीसी सीमेंट प्लांट के लिए क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि एवं पीसीसी उपाध्यक्ष डॉ प्रेमचंद जायसी ने जनहित में तर्कपूर्ण विरोध करने की बात कही है, उन्होंने यह भी कहा कि प्रबंधन से मांग की जायेगी कि प्लांट के लिए एनओसी कब मिला, शासन से प्लांट का एएमयु अनुबंध कब किया गया इसके आधार क्या थे, इन सभी का का परिक्षण किया जायेगा इसके साथ ही प्रदुषण के क्या मापदंड है उसका का अध्ययन किया जाएगा| एसीसी सीमेंट प्लांट स्थापना को लेकर जनहित में व जनता के साथ मिलकर जनसुनवाई का खुलकर विरोध किया जाएगा एवं अडानी समूह के मंसूबो को किसी भी कीमत में पूरा नहीं होने दिया जाएगा|

क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि एवं पीसीसी उपाध्यक्ष डॉ प्रेमचंद जायसी ने कहा कि जिस तरह से देश में अडानी ग्रुप पुरे देश को धीरे-धीरे खोखला बना रहा है, देश का पूंजी केवल एक व्यक्ति तक ही सिमित हो रहा है अब इसकी कुदृष्टि छत्तीसगढ़ पर ह जायसी ने कहा कि ये वही अडानी है जिन्होंने केंद्र में कृषि बिल पास होने से पहले ही किसानो को लुटने के लिए अनाज के भण्डारण के लिए बड़े बड़े गोदाम का निर्माण करा लिया था लेकिन पंजाब के किसानो ने इस कृषि बिल के खिलाफ महीनो सालो लड़ाई लड़ी व कृषि बिल को रद्द कराया जिसके बाद अडानी वहां से पलायन कर छत्तीसगढ़ की संस्कृति व सभ्यता को बर्बाद करने की नियत से यहाँ एसीसी सीमेंट का प्लांट लगाने की फिराक में है उनके मंसूबो को किसी भी कीमत पर कामयाब नहीं होने दिया जाएगा| गौरतलब हो कि मस्तुरी क्षेत्र में एसीसी सीमेंट के चुना पत्थर प्लांट के लिए पूर्व में जनसुनवाई का आयोजन किया गया था जिसका क्षेत्रवासियों ने जमकर विरोध किया जिसमे खुद सक्षम अधिकारी द्वारा माइक से ग्रामीणों एवम जनप्रतिनिधियों को जनसुनवाई निरस्त किए जाने की जानकारी देकर स्थल से जिला प्रशासन के आला अधिकारी रवाना हो गए थे,जिसके बावजूद जनप्रतीनिधियो एवम ग्रामीणों की भावना व अधिकारो को हनन कर प्रशासन द्वारा एसीसी प्लांट का चूना पत्थर माइंस खोला गया था,लेकिन अब चुकी आडानी के नीति का कांग्रेस हाईकमान से लेकर कांग्रेस के संगठन से लेकर एक कार्यकर्ता भी आडानी के व्यापारी कारण और लुट खसूट का विरोध कर रहे है,साथ ही छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की पूर्ण बहुमत की सरकार हैं जिससे ग्रामीणों को और कई राजनीतिक पार्टी के जनप्रतिनिधियों को पूरी उम्मीद हैं, की देश को खोखला बनाने आम जनता,गरीब के दुश्मन अडानी के,3 नवंबर को होने जा रहे मेगा जनसुनवाई का विरोध में कांग्रेस पार्टी भी अपना जमकर समर्थन देगी|

एसीसी चुना पत्थर प्लांट के लिए भी हुआ था विरोध

- मस्तुरी क्षेत्र के ग्राम विद्याडीह टांगर, बोहारडीह, गोड़ाडीह व भुरकुंडा में एसीसी सीमेंट प्लांट स्थापित करना चाहते है जिसके लिए वर्ष 2019 में जनसुनवाई आयोजित की थी, जनसुनवाई में भारी संख्या में ग्रामीणों सहित स्थानीय कांग्रेस के नेताओ ने भी जमकर हंगामा मचाया था तथा प्लांट स्थापना का विरोध किया था जिसके बाद जनसुवाई में शामिल शासन प्रशासन की मौजूदगी में डिप्टी कलेक्टर द्वारा जनसुनवाई को निरस्त करने की घोषणा भी की थी मगर प्लांट प्रबंधन द्वारा कूटरचना कर ग्रामीणों के चले जाने के बाद कुछ जमीन दलालो से मिलीभगत कर जनसुनवाई को सफल होने की झूठी योजना बनाकर उसपर ग्रामीणों के हस्ताक्षर करा जनसुनवाई सफल होने का झूठा ऐलान किया गया|