पामगढ पुलिस पर प्राण घातक हमला करने वाले फरार 04 आरोपियों को पुलिस ने दबोचा

 | 
Police

निखिल कश्यपकी रिपोर्ट 

जांजगीर चापा- प्रकरण में सम्मिलित 06 को  न्यायिक अभिरक्षा में भेजा जा चुका है, आरोपी घटना दिनांक से थे फरार आरोपियों को केशला के पास घेराबंदी कर पकड़ने में मिली सफलता आरोपियो की गिरफ्तारी हेतु किया गया है विशेष टीम का गठन
अनिल सोनी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में किया गया गठन
घटना में प्रयुक्त लाठी डण्डा एवं मोटरसाइकिल किया गया बरामद
आरोपियो को गिरफ्तार करने में विशेष गठित पुलिस टीम एवं थाना पामगढ़ पुलिस की रही मुख्य भूमिका रही, अवैध शराब बिक्री एवं वारंट तामिली के विशेष अभियान के तहत  निकोलस खलखो उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय जांजगीर चांपा के नेतृत्व में थाना प्रभारी पामगढ ओ पी कुर्रे तथा पुलिस के अन्य अधिकारी कर्मचारी ग्राम सेमरिया, बोरसी, भैसो की ओर सुबह करीबन 08.00 बजे रवाना हुये थे। ग्राम सेमरिया के पास पुलिस टीम पहुंची थी कि मुखबीर से ग्राम सेमरिया के सबरिया डेरा में अवैध शराब बिक्री की सूचना प्राप्त हुई। जिसकी सूचना के आधार पर ममता गोड (सबरिया) के घर दबिस दिया गया जहां उसके  कब्जे से एक जरीकेन में भरा अवैध कच्ची महुआ शराब करीब 12 लीटर जप्त कर 34 (2) आबकारी एक्ट के तहत कार्यवाही कर आरोपिया ममता गोड एवं जप्त अवैध महुआ शराब को शास. बुलेरो वाहन में लेकर थाना पामगढ की ओर निकले थे। घटना स्थल से थाना प्रभारी पामगढ उप निरीक्षक श्री ओ पी कुर्रे तथा शेष बल सबरिया डेरा सेमरिया से पामगढ की ओर निकल रहे थे कि नहर के पहले सबरिया डेरा के पास करीब 09.00 बजे लगभग 13-14 लोग  सभी एक राय होकर अपने अपने हांथो में लाठी-डण्डा, रॉड लेकर डण्डा लाठी एवं रॉड से थाना प्रभारी उप निरी. ओ पी कुर्रे, सउनि शिव चन्द्रा एवं उपस्थित पुलिस के अन्य स्टाफ के साथ गंदी गंदी गाली गलौच करते हुये जान से मारने की धमकी देते हुये अचानक हमला कर जान से मारने की नियत से गंभीर चोंट पहुंचाये। उप निरीक्षक ओ पी कुर्रे, सउनि शिव चन्द्रा तथा अन्य पुलिस स्टाफ का सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पामगढ में प्राथमिक ईलाज कराने के बाद उप निरीक्षक ओ पी कुर्रे, सउनि शिव चन्द्रा को रिफर करने पर अपोलो अस्पताल बिलासपुर ईलाज हेतु ले जाया गया, जहां वे वर्तमान में ईलाजरत है। 
          घटना की रिपेार्ट पर आरोपियों के विरुद्ध थाना पामगढ में अपराध क्र. 431/22 धारा 147, 148, 149, 341, 332, 353, 186,307,427 भादवि एवं 3 लोक संपत्ति क्षति निवारण अधिनियम का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। 
          मामले की गंभीरता को देखते हुये आरोपी की पतासाजी/गिरफ्तारी हेतु अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल सोनी के नेतृत्व में विशेष टीम  का गठन किया गया। जिसमें उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय निकोलस खलखो एवं उप पुलिस अधीक्षक श्री लीलाशंकर कश्यप भी सम्मिलित थे 
       घटना में सम्मिलित आरोपीगण 1. मंगली बाई 2. चंपा बाई 3. अनिता उर्फ भुरी बाई 4. शांति बाई 5. राजाराम उर्फ डोकरा उर्फ बुढवा सभी निवासी सेमरिया सबरिया डेरा थाना पामगढ 6. रामलाल (सबरिया) उम्र 29 वर्ष निवासी घटमडवा थाना गिधौरी को दिनांक 04.06.22 को गिरफ्तार किया जा चुका था एवं प्रकरण में सम्मिलित आरोपी चन्दन गोड़, जितेंद्र गोड़, सूरज गोंड एवं सुंदर सबरिया फरार थे जिनकी पतासाजी की जा रही थी
     आरोपियों के सम्बंध में जानकारी प्राप्त होने पर फरार आरोपी चन्दन गोड़ उम्र 27 वर्ष, जितेंद्र गोड़ उम्र 22 वर्ष, सूरज गोड़ उम्र 28 वर्ष एवं सुंदर सबरिया उम्र 45 वर्ष सभी निवासी सेमरिया को केशला डेम किनारे सड़क के पास घेराबन्दी कर गिरफ्तार किया गया
   फरार आरोपियों की गिरफ्तारी में निरीक्षक विवेक पांडेय, लखेस केंवट, उप निरीक्षक सन्तोष शर्मा, सहायक उप निरीक्षक अरुण सिंह, रामप्रसाद बघेल, प्रधान आरक्षक राजेश कोशले, बलवीर सिंह, आरक्षक राजा रात्रे, वीरेंद्र टण्डन, अनुज खरे, अर्जुन यादव एवं महेंद्र राज का सराहनीय योगदान रहा