-7 डिग्री सैल्सियस में 12500 फीट की ऊंचाई पर फहराया तिरंगा

अर्जुन पंडित की रिपोर्ट हिसार : हिसार जिले गांव जमावड़ी के रहने वाले सूबेदार डी.एस. यादव की पुत्री एवं पर्वतारोही खुशबू यादव ने केदारकंठ 12,500 फीट पर तिरंगा फहराकर देश की राष्ट्रीय एकता व भाईचारे का संदेश दिया। खुशबू ने हरियाणा से लेकर देहरादून तक 2 जनवरी से अपनी पर्वतारोही यात्रा शुरू की। देहरादून से आगे संकरी
 | 
-7 डिग्री सैल्सियस में 12500 फीट की ऊंचाई पर फहराया तिरंगा

अर्जुन पंडित की रिपोर्ट

हिसार  : हिसार जिले गांव जमावड़ी के रहने वाले सूबेदार डी.एस. यादव की पुत्री एवं पर्वतारोही खुशबू यादव ने केदारकंठ 12,500 फीट पर तिरंगा फहराकर देश की राष्ट्रीय एकता व भाईचारे का संदेश दिया। खुशबू ने हरियाणा से लेकर देहरादून तक 2 जनवरी से अपनी पर्वतारोही यात्रा शुरू की। देहरादून से आगे संकरी बेस कैम्प केदारकंठ उत्तराखंड तक पहुंची। खुशबू ने बताया कि 4 जनवरी को शंकरी से पर्वतारोही यात्रा शुरू की और उत्तराखंड के जुदा का तबल झील से होते हुए 5 सदस्यीय टीम केदारकंठ बेस कैम्प पर पहुंच गई।

यह उसके जीवन की महत्वपूर्ण यात्रा थी जिसमें उसे कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। केदारकंठ में तापमान -7 डिग्री सैल्सियस था। उन्हें भारी बर्फबारी के कारण टैंट तक में बिछाने में दिक्कतें आईं। 5 जनवरी को उन्होंने केदारकंठ की ओर पर्वतारोही यात्रा की शुरूआत की। 12,500 फीट की ऊंचाई पर पहुंच गई लेकिन वहां मुसीबतों का सामना करना पड़ा, क्योंकि वहां तेज ठंडी हवा थी। इस पर्वतारोही यात्रा में 4 दिन लगे।

उसने बताया कि अगली पर्वतारोही यात्रा सातो पंथ ग्लेशियर चोटी है जिसकी ऊंचाई 15,100 फीट है। खुशबू इससे पहले माऊंट फ्रैंडशिप पर तिरंगा फहराकर देश के नाम संदेश दे चुकी है।हिमाचल प्रदेश की माऊंट फ्रैंडशिप की ऊंचाई 17,353 फीट है। इससे पूर्व जून, 2018 में उत्तराखंड के द्रोपती का डाडा पीक पर तिरंगा फहरा चुकी है जिसकी ऊंचाई 15,800 फीट है।