सेव बेचकर कमाते हैं लाखों रुपये यहां के लोग

मनोज उनियाल की रिपोर्ट शिमला। इन दिनों सोशल मीडिया पर हिमाचल प्रदेश का एक गांव मिसाल बना हुआ है। अक्सर आपने शिमला का नाम तो सुना ही होगा। बता दें कि वहां से लगभग 92 किलोमीटर दूर एक गांव है। जहां के किसानों ने कमाई का अजब गजब काम किया है। सेव की खेती करके
 | 
सेव बेचकर कमाते हैं लाखों रुपये यहां के लोग

मनोज उनियाल की रिपोर्ट 

शिमला। इन दिनों सोशल मीडिया पर हिमाचल प्रदेश का एक गांव मिसाल बना हुआ है। अक्सर आपने शिमला का नाम तो सुना ही होगा। बता दें कि वहां से लगभग 92 किलोमीटर दूर एक गांव है। जहां के किसानों ने कमाई का अजब गजब काम किया है।

सेव की खेती करके बने अमीर
हिमाचल का मड़ावग हमारे देश का सबसे अमीर गांव में शुमार था। क्योंकि यहां के किसानों ने सेबों की खेती की। सालाना लगभग सात लाख पेटी सेब का उत्पादन किया, जिसने यहां के किसान अमीर बन गए। बता दें कि यहां हर परिवार की सालाना आमदनी 70 से 75 लाख रुपये है।।

मड़ावग का सेब सबसे अच्छी क्वालिटी का सेव होता है, यहां के किसान अच्छी क्वालिटी का सेब उगाते है। यहां रॉयल एप्पल, रेड गोल्ड, गेल गाला जैसी सेब की बेस्ट क्वालिटी उगाई जाती हैं। बता दें कि साल 1989 तक यहां सेबों का नामो निशान तक नहीं था। साल 1990 में एक किसान ने प्रयोग किया था। वो सफल रहा। इसके बाद यहां लोग सेबों की खेती करने लगे।
सेव बेचकर कमाते हैं लाखों रुपये यहां के लोग
मड़ावग के सेब का आकार बहुत बड़ा है। इन सेबों की क्वालिटी इतनी अच्छी है कि यह जल्दी खराब ही नहीं होते। बच्चों की तरह लोग अपने सेब के बागानों की देखभाल करते हैं।

सेव बेचकर कमाते हैं लाखों रुपये यहां के लोग

फसल को बचाने की करते रहते हैं कड़ी मेहनत
कई बार ओले पड़ जाते हैं। बर्फ मात्रा से ज्यादा पड़ जाती है। तो किसान सेबों के पेड़ों पर नेट लगाते हैं। रात-रात भर जागकर उनकी रखवाली करते हैं। इंटरनेट की वजह से किसानों को काफी लाभ हुआ है।