सरकारी शिक्षा को बढ़ावा देने में नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति कितनी कारगर, विषय पर एक विचार गोष्ठी का आयोजन

प्रवीन गुलाटी की रिपोर्ट फरीदाबाद हरियाणा। ऑल इंडिया पेरेंट्स एसोसिएशन आईपा व हरियाणा अभिभावक एकता मंच ने गांधी जयंती पर, शिक्षा के व्यवसायीकरण को रोकने व सरकारी शिक्षा को बढ़ावा देने में नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति कितनी कारगर, विषय पर एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया। जिसमें मुख्य वक्ता के रूप में आईपा हरियाणा के
 | 
सरकारी शिक्षा को बढ़ावा देने में नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति कितनी कारगर, विषय पर एक विचार गोष्ठी का आयोजन

प्रवीन गुलाटी की रिपोर्ट

फरीदाबाद हरियाणा। ऑल इंडिया पेरेंट्स एसोसिएशन आईपा व हरियाणा अभिभावक एकता मंच ने गांधी जयंती पर, शिक्षा के व्यवसायीकरण को रोकने व सरकारी शिक्षा को बढ़ावा देने में नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति कितनी कारगर, विषय पर एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया। जिसमें मुख्य वक्ता के रूप में आईपा हरियाणा के प्रदेश अध्यक्ष मास्टर वजीर सिंह ने कहा कि नई शिक्षा नीति सबको शिक्षा, समान शिक्षा, और सस्ती शिक्षा देने के उद्देश्य को पूरा नहीं करती है। इसके लागू होने से शिक्षा के व्यवसायीकरण को और बढ़ावा मिलेगा तथा शिक्षा और महंगी हो जाएगी, इसके अलावा सरकारी शिक्षा में भी कोई व्यापक सुधार नहीं होगा। उन्होंने कहा कि सरकारी तौर पर नई शिक्षा के सकारात्मक पहलुओं को तो बताया जा रहा है लेकिन इसके नकारात्मक व दुष्परिणाम पहलुओं को छुपाया जा रहा है। उन्हीं को बताने के लिए इस विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया है।

विचार गोष्ठी में आईपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश शर्मा, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सुभाष लांबा, मंच के जिला अध्यक्ष एडवोकेट शिव कुमार जोशी, सचिव डॉ मनोज शर्मा ने भी अपने विचार प्रकट करते हुए कहा कि नई शिक्षा नीति जल्दबाजी में लागू की जा रही है जो पूरी तरह से प्राइवेट शिक्षण संस्थान संचालकों के हितों को ध्यान में रखकर बनाई गई है।

वजीर सिंह ने अपने संबोधन में नई शिक्षा नीति के सकारात्मक व नकारात्मक पहलुओं की सिलसिलेवार जानकारी दी। प्रवीन गुलाटी जी ने भी अपने विचार रखे और कहा कि बढ़ी हुई फीस नही देनी चाहिए सभी का नुकसान है।

सरकारी शिक्षा को बढ़ावा देने में नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति कितनी कारगर, विषय पर एक विचार गोष्ठी का आयोजन

विचार गोष्ठी में सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव पारित करके केंद्र सरकार से मांग की गई कि विनाशकारी प्रभावों के कारण विशेषकर वंचित तबकों-लड़कियों के हित में नई शिक्षा नीति में वांछित संशोधन करके ही इसे लागू किया जाए। विचार गोष्ठी के बाद सर्वसम्मति से शिवकुमार जोशी, डॉ मनोज शर्मा, महेश अग्रवाल को पुनः मंच का जिला अध्यक्ष, सचिव व कोषाध्यक्ष तथा पूनम भाटिया को संयोजक महिला सेल निर्वाचित किया गया इसके अलावा एडवोकेट बी एस विरदी को आइपा का जिला अध्यक्ष बनाया गया और उन्हें अधिकार दिया गया कि वे शीघ्र ही अपनी कार्यकारिणी का संगठनात्मक विस्तार करें। विचार गोष्ठी में पंडित प्रीतम वत्स,अशोक प्रधान,मंच महिला सेल सदस्य पूनम भाटिया, अर्चना अग्रवाल, अमर जीत रंधावा, कुसुम शर्मा शैली बब्बर, हिना माथुर, संगीता नेगी, सर्व कर्मचारी संघ के श्रीपाल भाटी, बलवीर सिंह, रमेश तेवतिया, प्रवीन गुलाटी,करतार सिंह सतपाल नरवत, रतन लाल राणा, छात्र नेता जगदीश सैनी, आदि ने भी अपने विचार प्रकट किए। फरीदाबाद हरियाणा से प्रवीन गुलाटी।