राज्य के ऊंचे इलाकों में एक बार फिर बर्फ़बारी का दौर शुरू

मनोज उनियाल की रिपोर्ट शिमला, हिमाचल प्रदेश में धूप खिलने का मौसम विभाग का पूर्वानुमान गलत साबित हुआ है। राज्य के ऊंचे इलाकों में एक बार फिर बर्फ़बारी का दौर शुरू हो गया है। राजधानी शिमला में भी बाद दोपहर मौसम ने करवट ली और बारिश के बाद हल्की बर्फ़बारी हो रही है। एक माह
 | 
राज्य के ऊंचे इलाकों में एक बार फिर बर्फ़बारी का दौर शुरू

मनोज उनियाल की रिपोर्ट 

शिमला, हिमाचल प्रदेश में धूप खिलने का मौसम विभाग का पूर्वानुमान गलत साबित हुआ है। राज्य के ऊंचे इलाकों में एक बार फिर बर्फ़बारी का दौर शुरू हो गया है। राजधानी शिमला में भी बाद दोपहर मौसम ने करवट ली और बारिश के बाद हल्की बर्फ़बारी हो रही है। एक माह में शिमला में आठवीं बार हिमपात हुआ है। माल रोड और रिज मैदान पर पर्यटक इसका खूब आनंद ले रहे हैं। शिमला के निकटवर्ती पर्यटक स्थलों कुफरी, फागु व नारकंडा में भी ताज़ा हिमपात हुआ।
पिछले दिनों हुए व्यापक हिमपात से शिमला में हालात अभी सामान्य नहीं हुए हैं कि इस बर्फ़बारी ने लोगों को फिर आफत में डाल दिया है। इससे कई सड़कों पर यातायात फिर ठप पड़ गया है। उपनगर चक्कर के पास एक बड़े वाहन के स्किड होने से शिमला-मंडी नेशनल हाइवे बाधित हो गया और अनेक वाहन फंस गए। इसी तरह कुफरी में भी वाहनों की आवाजाही बाधित हो गई है।
मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के असर से मौसम में बदलाव आया है, लेकिन अगले दो दिन मौसम साफ रहेगा। राज्य के उच्च पर्वतीय इलाकों में 4 फरवरी को बर्फ़बारी के आसार हैं। 6 व 7 फरवरी को शिमला सहित मध्यवर्ती व उच्च पर्वतीय इलाकों में फिर बर्फ़बारी की संभावना है। मैदानी क्षेत्रों में 7 फरवरी तक मौसम साफ रहेगा।
मौसम के इन कड़े तेवरों से राज्य में शिमला में ठंड का प्रकोप बढ़ गया है। शिमला में शनिवार को अधिकतम तापमान 7.6 डिग्री और न्यूनतम तापमान -2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।
लाहौल-स्पीति का केलांग सबसे ठंडा रहा, जहां न्यूनतम तापमान -15 डिग्री सेल्सियस रहा। इसके अलावा किन्नौर के कल्पा में -8.4, मनाली में -3, धर्मशाला में 2.8, भुंतर में 3.1, सोलन में 3.5, पालमपुर में 4, मंडी में 5.1, ऊना में 5.2, हमीरपुर में 7.1, कांगड़ा में 7.2, नाहन में 7.3 और बिलासपुर में 7.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ।
लोगों की बढ़ी मुश्किलें
जनवरी के आखिरी हफ्ते में हुए भारी हिमपात से ऊपरी शिमला का सम्पर्क तीन दिन तक राजधानी से कटा रहा। पिछले कल शुक्रवार को ही ऊपरी शिमला का राज्य मुख्यालय से सम्पर्क बहाल हुआ था। अब ताज़ा हिमपात ने लोगों की मुश्किलें फिर बढ़ा दी हैं। राज्य में 3 नेशनल हाईवे समेत करीब 162 सड़कें अब भी अवरुद्ध हैं। अकेले शिमला जिला में 111 सड़कें बंद हैं। ताजा हिमपात से सड़कें बहाली के लोक निर्माण विभाग की कोशिशों को झटका लगा है।