भयंकर आगजनी ने किया करोडों का नुकसान

अश्विनी कुमार सिंह की रिपोर्ट ठियोग (हिमाचल)। कोटखाई के प्रेमनगर में मंगलवार की रात करीब 11 बजे हुए भीषण अग्निकांड में पांच दुकानें, पोस्ट ऑफिस, पंचायत घर, राशन डिपो, दो गोदाम, एक क्लीनिक और दो किराए के मकान जलकर राख हो गए। आग इतनी जबरदस्त थी कि अग्निशमन कर्मियों को इस पर काबू पाने में
 | 

अश्विनी कुमार सिंह की रिपोर्ट 

ठियोग (हिमाचल)। कोटखाई के प्रेमनगर में मंगलवार की रात करीब 11 बजे हुए भीषण अग्निकांड में पांच दुकानें, पोस्ट ऑफिस, पंचायत घर, राशन डिपो, दो गोदाम, एक क्लीनिक और दो किराए के मकान जलकर राख हो गए। आग इतनी जबरदस्त थी कि अग्निशमन कर्मियों को इस पर काबू पाने में चार से पांच घंटे लग गए। अग्निकांड की यह घटना कोटखाई से पांच किलोमीटर दूर प्रेमनगर में घटित हुई। हालांकि इस दौरान किसी तरह का जानी नुकसान तो नहीं हुआ, लेकिन करोड़ों की संपत्ति और सरकारी रिकार्ड नष्ट हो गया। साथ ही दुकानदारों से उनका रोजी-रोटी का साधन भी छिन गया है। आग लगने की वजह का पता नहीं चल सका है। आगजनी की इस घटना में करीब दो करोड़ का नुकसान प्रशासन की ओर से आंका गया है। प्रशासन की ओर से प्रभावित परिवारों को 10-10 हजार मकान मालिक को जबकि पांच-पांच हजार किराएदारों को दिए गए हैं। इसके अलावा पीडि़त परिवारों को तिरपाल-कंबल तथा खाने-पीने की सामग्री भी प्रशासन की ओर से दी गई है। आग से हुए नुकसान का प्रशासन द्वारा आकलन किया जा रहा है। आग पर करीब चार घंटे बाद दमकल गाडि़यों द्वारा कड़ी मशक्कत से काबू पाया जा सका। स्थानीय लोगों ने साथ लगते नाले से भी पानी लिफ्ट कर आग पर काबू पाने की कोशिश की। आग की भयावहता के अंदेशे से घटनास्थल से सटे मकानों में रहने वाले लोगों ने अपना कीमती सामान निकालना शुरू कर दिया था। आग से जो प्रभावित हुए हैं, जिनमें हरि गोपाल, पंकज, पूर्ण चंद, सही राम व बालक राम शामिल हैं। अग्निकांड में एक प्राइवेट डाक्टर का क्लीनिक भी राख हो गया। इसके अलावा राशन डिपो, पंचायत घर व पोस्ट ऑफिस के राख होने से महत्त्वपूर्ण सरकारी रिकार्ड नष्ट हो गया।

प्रशासन की ओर से एसडीएम ठियोग केके शर्मा के अलावा तहसीलदार कोटखाई रवीश कुमार घटनास्थल पर पहुंचे और मौके का मुआयना किया। आगजनी की इस घटना को लेकर मुख्य सचेतक व जुब्बल कोटखाई के विधायक नरेंद्र बरागटा ने गहरा दुख प्रकट किया है और पीडि़त परिवार को हर संभव सहायता देने का आश्वासन दिया है। उन्होंने प्रशासन को प्रभावित परिवारों को तुरंत फौरी राहत जारी करने के भी निर्देश दिए हैं। अग्निकांड की इस घटना में एक दर्जन के करीब मकान राख हुए हैं। इनमें दुकानें, पोस्ट ऑफिस, पंचायत घर, राशन डिपो, गोदाम, क्लीनिक और किराए के मकान हैं। बुधवार तड़के तीन बजे के करीब आग पर काबू पाया जा सका। इस संबंध में मामला दर्ज कर पड़ताल की जा रही है। एसडीएम ठियोग केके शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि पीडि़त परिवारों को प्रशासन की ओर से मदद दी जा चुकी है। इसके अलावा प्रभावित परिवार को जो भी सहायता चाहिए होगी, उसके लिए प्रशासन मदद करेगा। उन्होंने कहा कि आगजनी की घटना का अभी तक कोई पता नहीं चल पाया है, लेकिन आगजनी की इस घटना में काफी अधिक नुकसान हुआ है। उन्होंने बताया कि फिलहाल प्रभावित परिवारों के ठहरने की व्यवस्था प्रशासन की ओर से कर दी गई है।