बिलखते बच्चे और सिसकते बुजुर्ग, हलक से नहीं उतर रहा खाना

हिमाचल ब्यूरो रिपोर्ट ऊना: बिलखते बच्चे और सिसकते बुजुर्ग, आंखों में नींद और डर के माहौल में सैकड़ों लोग हिमाचल बॉर्डर पर पहुंचे है। इस मुसीबत की घड़ी में अपने घर जाना चाहते है। वह पंजाब के विभिन्न शहरों से रात को 2-3 बजे निकले थे जो अब ऊना के बॉर्डर पंडोगा में आकर फंस
 | 
बिलखते बच्चे और सिसकते बुजुर्ग, हलक से नहीं उतर रहा खाना

हिमाचल ब्यूरो रिपोर्ट

 ऊना: बिलखते बच्चे और सिसकते बुजुर्ग, आंखों में नींद और डर के माहौल में सैकड़ों लोग हिमाचल बॉर्डर पर पहुंचे है। इस मुसीबत की घड़ी में अपने घर जाना चाहते है। वह पंजाब के विभिन्न शहरों से रात को 2-3 बजे निकले थे जो अब ऊना के बॉर्डर पंडोगा में आकर फंस गए है। जहां पुलिस का पहरा है और चिकित्सकों की टीम बुलाई गई है ताकि उनके स्वास्थ्य की जांच कर उन्हें आगे जाने दिया जा सके।

बिलखते बच्चे और सिसकते बुजुर्ग, हलक से नहीं उतर रहा खाना
स्थानीय पंडोगा पंचायत के जनप्रतिनिधियों द्वारा इन लोगों की सेवा की जा रही है और दूध चाय और नाश्ता करवाया जा रहा है। लेकिन डरे हुए इन लोगो के हलक में कुछ नहीं जा रहा है। एक ही सपना है कि कैसे अपने घर पहुंचे।