फैक्ट्री में आग, एक की जिंदा जलकर मौत, तीन झुलसे कई अभी भी लापता

मनोज उनियाल की रिपोर्ट औद्योगिक क्षेत्र बद्दी के तहत काठा स्थित यस फैन एंड एप्लायंसेज उद्योग में सोमवार सुबह एक धमाके के बाद लगी भीषण आग में एक महिला कामगार की जिंदा जलकर मौत हो गई, जबकि तीन कामगार झुलस गए। इस हादसे में एक कामगार लापता है, अंतिम समाचार तक जिसके लिए सर्च आपरेशन चल
 | 
फैक्ट्री में आग, एक की जिंदा जलकर मौत, तीन झुलसे कई अभी भी लापता

मनोज उनियाल की रिपोर्ट

औद्योगिक क्षेत्र बद्दी के तहत काठा स्थित यस फैन एंड एप्लायंसेज उद्योग में सोमवार सुबह एक धमाके के बाद लगी भीषण आग में एक महिला कामगार की जिंदा जलकर मौत हो गई, जबकि तीन कामगार झुलस गए। इस हादसे में एक कामगार लापता है, अंतिम समाचार तक जिसके लिए सर्च आपरेशन चल रहा था। आगजनी से जहां तैयार और कच्चा माल स्वाह हो गया, वहीं पूरा उद्योग भी राख के ढेर में तबदील हो गया है। दमकल कर्मी दस फायरटेंडरों के जरिए सुबह से आसमान छूती लपटों पर क़ाबू पाने में जुटे रहे, लेकिन देर रात अंतिम सूचना तक आग पर क़ाबू नहीं पाया जा सका है।

 बता दें आग इस कद्र बेकाबू हो चुकी थी कि प्रशासन को एहतियातन आसपास के उद्योगों व रिहायशी कालोनियों को खाली करवाना पड़ा। बताया जा रहा है कि उद्योग के पेंटिंग सेक्शन में भट्ठी या गैस सिलेंडर में एक जोरदार ब्लॉस्ट हुआ, जिसके बाद उठी आग की लपटों ने पूरे उद्योग को अपनी चपेट में ले लिया। गनीमत यह रही कि हादसे के वक्त उद्योग में मात्र दर्जन भर कामगार ही मौजूद थे। डे-शिफ्ट के लिए कामगार करीब नौ बजे पहुंचने थे, वरना हताहत का आंकड़ा बढ़ सकता था। दरअसल धमाके के बाद जहां उद्योग का पूरा शेड् जमींदोज हो गया। वहीं शेड् की दीवारें भी ढह गईं। एसडीएम नालागढ़ महेंद्र पाल गुर्जर, एएसपी बद्दी नरेंद्र कुमार घटनास्थल पर दल बल सहित सुबह से देर रात तक डटे रहे और राहत कार्यों का जायज़ा लेते रहे। आगजनी से करोड़ों के नुक़सान का अनुमान है। पुलिस ने केस दर्ज कर आग लगने के कारणों की पड़ताल शुरू कर दी है।

जानकारी के मुताबिक़ बददी के काठा स्थित होम एप्लायंसेज निर्माता यस फैन एंड एप्लायंसेज कंपनी में सुबह क़रीब आठ बजे एक ज़ोरदार धमाके के बाद भीषण आग लग गई, घटना के समय उद्योग परिसर में दर्जनों कामगार व मैटेंनस कर्मी मौजूद थे, जिन्होंने धमाके के बाद अफ़रा तफ़री के बीच भाग कर जान बचाई। हालांकि आधा दर्जन कामगार उद्योग के भीतर फंस गए, जिनमें से एक महिला कामगार की मौत हो गई, जिसकी अधजली लाश दोपहर बाद बरामद हुइ,र् जबकि एक अन्य लापता कामगार की तलाश की जा रही है, लेकिन आग की लपटों और ढह चुके उद्योग के मलबे के बीच सर्च आपरेशन में दिक्कतें पेश आ रही है। बता दें कि इस आगजनी में तीन कामगार भी झुलस गए है, जिनका स्थानीय अस्पताल में उपचार चल रहा है। आग इस क़दर रौद्र रूप धारण कर चुकी थी की जहां लपटें आसमान छू रही थी वहीं धुंए का गुब्बार कई किलोमीटर दूर से नजर आ रहा था,आलम यह रहा कि उद्योग में एक के बाद एक हो रहे धमाके से शेड की दीवारें ढह गई और आग की तपिश से टीन की छतें तक पिघल गई नतीजतन पुरा शेड् जमींदोज़ हो गया है। आगजनी की सूचना मिलते ही दमकल केंद्र बद्दी से दमकल कर्मी मौके पर पहुंचे और आग पर काबू पाने में जुट गए, बेकाबू आग पर काबू पाने के लिए दमकल केंद्र बद्दी सहित, नालागढ़, टीवीएस , वर्धमान ,अल्ट्रा टेक उद्योग सहित अन्य उद्योगों के करीब 10 फायर टैंडर जुटे है।

समाचार लिखे जाने तक दमकल कर्मी आग क ो काबू करने में जुटे थे, लेकिन उद्योग अभी  भी सुलग रहा था। उधर, एएसपी बददी रोहित मालपानी ने आगजनी में एक महिला का शव बरामद कर लिया गया है जबकि एक अन्य लापता महिला कामगार की तलाश की जा रही है,इसके अलावा तीन लोग झुलसे है जिसकी तलाश की जा रही है। उन्होंने बताया कि पुलिस आग लगने के कारणों की पड़ताल कर रही है। होमगार्ड के कंमाडेंट डा. शिव कुमार ने बताया कि बद्दी, नालागढ़, परवाणू, वर्द्धमान के फायर टेंडर आग बुझाने में लगे रहे और देर शाम काफी हद तक आग पर काबू पा लिया था। दमकल कर्मियों ने त्वरित कार्रवाई करते हुए साथ लगते उद्योगों व रिहायशी कालोनियों को आग की जद में आने से बचा लिया।  उन्होंने बताया कि उद्योग को आगजनी से करोड़ों का नुकसान हुआ है, जिसकी अभी आकलन किया जा रहा है।

और कामगार दबे होने की आशंका

कंपनी की भट्ठी में अचानक बहुत बड़ा धमाका हुआ और उसके बाद कंपनी में चारों ओर आग फैल गई। धमाके के साथ कंपनी के भीतर एक दीवार भी गिर गई, जिसके नीचे कामगारों के दबे होने की आशंका जताई जा रही है। इसमें अभी तक एक महिला का ही शव मिला, जिसकी शिनाख्त यूपी के बदाऊं निवासी बानो (35) पत्नी शरीफ के रूप में हुई है, जबकि सुनिता देवी (22), मोहम्मद रफीक (18) व अरविंद कु श्वाहा (20) झुलस गए।