प्रदेश में सिर्फ एक पीडि़त, एक की हो चुकी है मौत

मनोज उनियाल की रिपोर्ट शिमला-कोरोना वायरस से हिमाचल समेत पूरी दुनिया में हड़कंप मचा हुआ है, इस बीच शुक्रवार का दिन हिमाचल के लिए बड़ी राहत लेकर आया। प्रदेश के लिए राहत की खबर यह रही कि कांगड़ा जिला के लंज का युवक, जो कि टांडा मेडिकल कालेज में कोरोना पॉजिटिव पाया गया था, अब
 | 

मनोज उनियाल की रिपोर्ट

शिमला-कोरोना वायरस से हिमाचल समेत पूरी दुनिया में हड़कंप मचा हुआ है, इस बीच शुक्रवार का दिन हिमाचल के लिए बड़ी राहत लेकर आया। प्रदेश के लिए राहत की खबर यह रही कि कांगड़ा जिला के लंज का युवक, जो कि टांडा मेडिकल कालेज में कोरोना पॉजिटिव पाया गया था, अब उसकी रिपोर्ट नेगेटिव आई है। इस तरह प्रदेश में अब कोरोना से पीडि़त एक ही मरीज है, जो कि शाहपुर से है। वहीं, एक तिब्बती की अब तक प्रदेश में मौत हुई है। इसकी पुष्टि करते हुए अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) आरडी धीमान ने बताया कि जो पूर्व में दो व्यक्ति कोविड-19 के प्रति पॉजिटिव पाए जाने के उपरांत टांडा में उपचाराधीन हैं, उनमें से एक की रिपोर्ट कोविड-19 के प्रति नेगेटिव हो चुकी है। वहीं, उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के लिए एक नई वेब एप्लीकेशन बना रहा है, जिसमें सभी गृह निगरानी में रखे गए लोगों की जानकारी उपलब्ध होगी। अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) ने साथ ही कहा कि प्रदेश स्वास्थ्य विभाग संक्रमण की रोकथाम के लिए वृह्द सूचना, शिक्षा एवं संप्रेषण गतिविधियां संचालित कर रहा है, जिसके माध्यम से जनसाधारण को विभाग द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों के अनुपालन के लिए प्रेरित किया जा रहा है, ताकि कोविड-19 के संक्रमण को रोका जा सके। अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) ने जनसाधारण से आह्वान किया कि वे व्यर्थ में मास्क और हैंड  सेनेटाइजर खरीद कर अपनी आर्थिकी पर बोझ न डालें, बल्कि अपनी व्यक्तिगत स्वच्छता पर ध्यान दें, साबुन से समय-समय पर हाथ धोतें रहें, छींकनें और खांसने के दौरान शिष्टाचार का पालन करें। यह आवश्यक नहीं कि आपको हैंड सेनेटाइजर लेना आवश्यक है, यदि यह उपलब्ध न भी हों, तो भी हम साबुन से सही तरह अपने हाथ धोने की आदत अपना कर इस रोग के संक्रमण से बच सकते हैं। यदि आपको खांसी या बुखार है, तो किसी के संपर्क में न आएं, सार्वजनिक स्थानों पर न थूंके, अगर आप अस्वस्थ महसूस करते हैं, तो अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र या चिकित्सक से संपर्क करें। यह जरूरी नहीं कि खांसी या बुखार केवल कोराना वायरस के ही लक्षण हों, ये किसी अन्य बीमारी के भी लक्षण हो सकतें है, इसलिए कोरोना वायरस की सही जानकारी एवं सुरक्षा के दिशा-निर्देशों का सजगता से पालन कर आप स्वयं व दूसरों को इसके संक्रमण के प्रभाव से सुरक्षित रख सकते है। इसलिए यह भी पुनः अनुरोध किया की कर्फ्यू की ढील के दौरान भी अनावश्यक रूप से घरों से बाहर न निकलें एवं कोविड-19 के संक्रमण के रोकथाम के लिए प्रदेश सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों में सहयोग दें। यदि किसी कारणवश घर से बाहर जाना भी पड़ता है, तो अपने बचाव के लिए सजग एवं सतर्क रहें।

शुक्रवार को सभी 19 टेस्ट की रिपोर्ट नेगेटिव

हिमाचल में लगातार चौथे दिन कोरोना का कोई मामला पॉजिटिव नहीं आया है। शुक्रवार तक प्रदेश में 152 नमूने की रिपोर्टें मिल चुकी हैं। इनमें 149 संदिग्ध मरीजों के संक्रमित होने की पुष्टि नहीं हुई है। इसमें शुक्रवार को 19 सैंपल भेजे गए, जो सभी नेगेटिव आए हैं। अभी तक प्रदेश में अमरीका से लौटे तिब्बती की मौत हुई है। हालांकि हिमाचल के लिए यह राहत की बातहै कि शुक्रवार को कोई भी मामला पॉजिटिव नहीं आया है। उल्लेखनीय है कि 27 मार्च तक 688 लोग 28 दिन के डेंजर जोन से बाहर आ चुके हैं। पिछले 24 घंटों में होम क्वारंटाइन के मामले बढ़े है। शुक्रवार तक होम क्वारंटाइन की संख्या 1476 हो गई है।