पुलवामा के बाद एक और हमला करना चाहते थे जैश आतंकी

अरमान अली की रिपोर्ट जम्मू। राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में गत साल आतंकवादी हमले की साजिश रचने और उसे अंजाम देने के लिए प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर समेत 19 लोगों के खिलाफ मंगलवार को यहां आरोप पत्र दायर किया। पिछले साल पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल
 | 
पुलवामा के बाद एक और हमला करना चाहते थे जैश आतंकी

अरमान अली की रिपोर्ट

जम्मू। राष्ट्रीय जांच एजेंसी  ने दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में गत साल आतंकवादी हमले की साजिश रचने और उसे अंजाम देने के लिए प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर समेत 19 लोगों के खिलाफ मंगलवार को यहां आरोप पत्र दायर किया। पिछले साल पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के काफिले पर हुए इस हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे। NIA ने चार्जशीट में कहा कि आतंकी इस हमले के बाद रुकने वाले नहीं थे। हमले के मास्टरमाइंड जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर समेत तमाम आतंकी दूसरे हमले की भी तैयारी कर रहे थे लेकिन इसी बीच भारतीय एयरफोर्स ने बालाकोट में एयरस्ट्राइक कर दी।

इसी कारण जैश-ए-मोहम्मद ने दूसरा हमला रोक दिया। आरोपपत्र में भारत में आतंकवादी हमले करने और कश्मीरी युवाओं को उकसाने और भड़काने में पाकिस्तान स्थित आतंकवादियों की संलिप्तता को रिकार्ड में लाया गया है।” 13,500 पृष्ठों के आरोपपत्र में मसूद अजहर, उसके भाइयों अब्दुल रऊफ और अम्मार अल्वी तथा उसके रिश्तेदार मोहम्मद उमर फारूक का नाम भी शामिल है जिसने अप्रैल 2018 में भारत में घुसपैठ की थी और दक्षिण कश्मीर में एक मुठभेड़ में मारा गया था। अजहर के भाइयों के अलावा, NIA के आरोपपत्र में समीर डार और अशाक अहमद नेंग्रू, दोनों दक्षिण कश्मीर के पुलवामा निवासियों और एक पाकिस्तानी नागरिक मोहम्मद इस्माइल का नाम फरार के तौर पर दिया गया है और यहां की अदालत से सभी छह के खिलाफ गैर-जमानती वारंट प्राप्त किया गया है।