पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई अब नाबालिगों को भी ‘फंसाने’ में लगी

अहसान की रिपोर्ट जम्मू। भारतीय सेना की मूवमेंट के बारे में पता लगाने के लिए पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई अब नाबालिगों को भी ‘फंसाने’ में लगी है। ऐसे ही एक मामला जम्मू के अंतर्राष्ट्रीय सीमा के अरनिया सेक्टर में सामने आया है। बताया जा रहा है कि आईएसआई की महिला एजेंट ने क्षेत्र के
 | 

अहसान की रिपोर्ट 

जम्मू। भारतीय सेना की मूवमेंट के बारे में पता लगाने के लिए पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई अब नाबालिगों को भी ‘फंसाने’ में लगी है। ऐसे ही एक मामला जम्मू के अंतर्राष्ट्रीय सीमा के अरनिया सेक्टर में सामने आया है। बताया जा रहा है कि आईएसआई की महिला एजेंट ने क्षेत्र के एक नाबालिग को अपने प्यार के जाल में फंसाकर उससे सुरक्षाबलों की मूवमेंट के बारे में काफी कुछ जानकारी जुटा ली। महिला ने नाबालिग युवक से पहले इंस्टाग्राम पर दोस्ती की उसके बाद फेसबुक पर बातचीत होने लगी। पुलिस नाबालिग से पूछताछ कर रही है।
सूत्रों के मुताबिक चार दिन पहले पुलिस ने अरनिया से दो लड़कों को पकड़ा था। तभी मामले का खुलासा हुआ। पुलिस ने एक लड़के को छोड़ दिया है। दूसरे से पूछताछ चल रही है। फिलहाल पुलिस का कोई भी अधिकारी आधिकारिक तौर पर इस मामले पर कुछ नहीं कह रहे हैं। जम्मू-कश्मीर में पिछले साल 5 अगस्त से इंटरनेट बंद होने से पहले अरनिया का युवक पाकिस्तान की रहने वाली लड़की के संपर्क में आया। ऑन लाइन हुई इस दोस्ती के दौरान युवती ने अपने को पंजाब निवासी बताया। दोनों में पंजाबी में बात होने लगी। धीरे-धीरे दोनों फेसबुक पर भी बात करने लगे। इस दौरान युवती सीमांत क्षेत्र में सुरक्षाबलों की मूवमेंट की तस्वीरें युवक से मंगवाती रही।
दरअसल हर मोर्चे पर नाकामी के बाद पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई ने अब हनी ट्रैप का जाल बिछाया है। सीमांत क्षेत्र के लड़कों को फंसाकर, दोस्ती कर खुफिया जानकारी जुटाई जा रही है।
खुद को पटियाला का बताया युवती ने
बताया जा रहा है कि शकीला नामक एक युवती ने पहले अपनी तस्वीरें भेजीं और फिर चौंटिंग में युवक को बताया कि वह पटियाला (पंजाब) की रहने वाली है और उससे दोस्ती करना चाहती है। दोस्ती आगे बढ़ी तो उसने युवक से मोबाइल पर बात कर जम्मू के सीमावर्ती इलाके में भारतीय जवानों की तैनाती के बारे में जानकारी लेनी शुरू कर दी।
नाबालिग ने क्या शेयर किया, सुरक्षाबल जुटा रहे हैं जानकारी
फिलहाल सुरक्षा एजेंसियां यह पता लगाने का प्रयास कर रही हैं कि युवक अब तक क्या-क्या जानकारी सीमा पार भेज चुका है। सूत्रों के मुताबिक अनुच्छेद 370 हटने के बाद जम्मू में इंटरनेट बंद हो गया। दोनों की दोस्ती पर ब्रेक लग गया, लेकिन किसी तरह से इंटरनेट की व्यवस्था हो जाने पर दोनों में फिर बातचीत का सिलसिला शुरू हो गया। इस दौरान पुलिस ने युवक और उसके चचेरे भाई को पकड़्ा तो मामले का खुलासा हुआ।