ठग ने ऐसी चाल चली कि सुनकर आप रह जाएंगे भौंचक्के

मनोज उनियाल की रिपोर्ट शिमला । शिमला जिला में लोग ठगी का शिकार बनने से बाज नहीं आ रहे हैं। जिला में एक के बाद एक लोगों को ठगी का शिकार बनाया जा रहा है। अबकी बार सुन्नी में एक व्यक्ति को ठगी का शिकार बनाया गया है। शातिर ने व्यक्ति को 22 हजार रुपए
 | 
ठग ने ऐसी चाल चली कि सुनकर आप रह जाएंगे भौंचक्के

मनोज उनियाल की रिपोर्ट

शिमला । शिमला जिला में लोग ठगी का शिकार बनने से बाज नहीं आ रहे हैं। जिला में एक के बाद एक लोगों को ठगी का शिकार बनाया जा रहा है। अबकी बार सुन्नी में एक व्यक्ति को ठगी का शिकार बनाया गया है। शातिर ने व्यक्ति को 22 हजार रुपए की चपत लगाई है। सुन्नी के रहने वाले कमल नामक व्यक्ति ने पुलिस को शिकायत दी है कि कुछ दिन पहले उसको मोबाइल पर एक कॉल आई। फोन करने वाले ने अपने आपको बैंक अधिकारी बताया और कहा कि आपका एटीएम कार्ड ब्लॉक हो गया है। अगर एटीएम कार्ड को चालू रखना चाहते हैं तो एटीएम नंबर की जानकारी देनी होगी। इसके साथ ही फोन पर आने वाला एसएमएस यानि ओटीपी नंबर भी देने को कहा गया।

एटीएम कार्ड ब्लॉक होने की बात सुन कमल भी बहकाव में आ गया और बिना सोचे-समझे अपने एटीएम कार्ड की डिटेल शातिर बता दी। इसके बाद एसएमएस में आया ओटीपी नंबर भी उससे शेयर कर दिया। ओटीपी नंबर शेयर करने के कुछ ही समय बाद उसके मोबाइल नंबर पर 22 हजार रुपए निकाले जाने का मैसेज आया। तब कमल को पता चला कि किसी शातिर ने उसे ठगी का शिकार बना दिया है। इसके बाद उसने बैंक वालों को भी इसकी सूचना दी और पुलिस में मामला दर्ज करवाया। हैरानी की बात है कि इससे पहले भी कई लोगों को ऑनलाइन ठगी का शिकार बनाया गया है और पुलिस बार-बार लोगों को इसके बारे में जागरूक कर रही है। बावजूद इसके लोग अज्ञात लोगों को अपने बैंक खातों से संबंधित डिटेल बताने से पीछे नहीं हट रहे है।

एसपी शिमला ओमापति जम्वाल ने कहा कि यह मामला पुलिस के ध्यान में आया है। पुलिस की मामले को लेकर कार्रवाई जारी है। पुलिस लोगों से बार-बार यही अपील कर रही है कि किसी भी अज्ञात को अपने बैंक खाते से संबंधित कोई डिटेल न बताएं। लोगों को स्वयं भी सावधानी बरतनी होगी।