जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद ने ‘एक सप्ताह राष्ट्र के लिए’ अभियान की शुरूआत की

बयूरो रिपोर्ट प्रवीन गुलाटी फरीदाबाद हरियाणा। जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद ने आज पर्यावरण संरक्षण एवं संवर्धन के लिए की जा रही पहल के अंतर्गत ‘एक सप्ताह राष्ट्र के लिए’ अभियान की शुरूआत की। पर्यावरण संरक्षण गतिविधियों पर आधारित इस अभियान को विश्वविद्यालय की पर्यावरण सोसाइटी वसुंधरा द्वारा उन्नत भारत अभियान प्रकोष्ठ
 | 
जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद ने ‘एक सप्ताह राष्ट्र के लिए’ अभियान की शुरूआत की

बयूरो रिपोर्ट  प्रवीन गुलाटी 

फरीदाबाद हरियाणा। जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद ने आज पर्यावरण संरक्षण एवं संवर्धन के लिए की जा रही पहल के अंतर्गत ‘एक सप्ताह राष्ट्र के लिए’ अभियान की शुरूआत की। पर्यावरण संरक्षण गतिविधियों पर आधारित इस अभियान को विश्वविद्यालय की पर्यावरण सोसाइटी वसुंधरा द्वारा उन्नत भारत अभियान प्रकोष्ठ के सहयोग से आयोजित किया जा रहा है।
अभियान का शुभारंभ कुलपति प्रो दिनेश कुमार ने कैंपस में फलदार पौधा लगाकर किया। पौधारोपण गतिविधि में कुलसचिव डाॅ. एस.के. गर्ग के अलावा विभिन्न विभागाध्यक्षों ने भी हिस्सा लिया और पेड़ के रूप में विकसित होने तक पौधे की देखभाल करने का संकल्प लिया।
पर्यावरण सोसाइटी वसुंधरा और पर्यावरण विज्ञान संकाय के प्रयासों की सराहना करते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने कहा कि प्रकृति और पर्यावरण के साथ विद्यार्थियों में जुड़ाव पैदा करने के लिए नियमित अंतराल पर ऐसी गतिविधियों की आवश्यकता है ताकि वे पर्यावरण संरक्षण को अपने जीवन के हिस्से के रूप में लेते हुए जीवन शैली में बदलाव लाये।
अभियान के बारे में विस्तार से बताते हुए पर्यावरण विज्ञान की अध्यक्षा डॉ रेनूका गुप्ता ने कहा कि अभियान के तहत पर्यावरणीय मुद्दों के बारे में युवा पीढ़ी को जागरूक करने के उद्देश्य से गतिविधियों की योजना बनाई गई है ताकि वे पर्यावरण संरक्षण की दिशा में योगदान करने के लिए खुद को समर्पित कर सकें। उसने कहा कि अगर हम युवाओं को यह प्रण लेने के लिए प्रेरित करें कि वे अपनी आने वाली पीढ़ी को विरासत के रूप में एक पेड़ देंगे, तो यह निश्चित रूप से एक बड़ा योगदान होगा।
उन्होंने बताया कि एक सप्ताह तक चलने वाले इस अभियान के तहत विभिन्न ऑनलाइन गतिविधियों को ‘मेरी पृथ्वी, मेरा पर्यावरण’ के विषय के साथ चलाया जायेगा, जिसमें पौधारोपण अभियान और सेल्फी कॉन्टेस्ट शामिल हैं, जिसमें विद्यार्थियों तथा शिक्षकों को उनके द्वारा लगाये गये पौधे के साथ सेल्फी लेकर शेयर करनी होगी। इसी तरह एलोक्यूशन प्रतियोगिता में प्रतिभागियों को पर्यावरण संबंधी मुद्दों पर एक वीडियो बनाकर शेयर करना होगा। फोटोग्राफी प्रतियोगिता के अंतर्गत प्रतिभागियों को औषधीय और सुगंधित पौधों की तस्वीरों को पौधे के विवरण के साथ साझा करना होगा। पृथ्वी और कोविड-19 पर पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता और प्रकृति विषय पर कविता लेखन प्रतियोगिता भी आयोजित की जा रही है। यह गतिविधियां 22 अगस्त तक जारी रहेंगी और अभियान के अंत में पर्यावरण संरक्षण को विभिन्न मुद्दों पर पैनल डिस्कशन और वेबिनार का आयोजन किया जायेगा तथा प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कृत किया जायेगा। इन सभी गतिविधियों का समन्वयन पर्यावरण विज्ञान विभाग की देखरेख में उन्नत भारत अभियान प्रकोष्ठ की समन्वयक डॉ. साक्षी कालरा करेंगी।
अभियान के अंतर्गत आयोजित होने वाली विभिन्न प्रतिस्पर्धी गतिविधियों में पहले तीन स्थानों के लिए नकद पुरस्कार प्रदान किये जायेंगे और ह प्रतियोगिता सभी प्रतिभागियों के लिए ओपन रहेगी। फरीदाबाद हरियाणा से प्रवीन गुलाटी।