छह जिलों के आठ शहरों का न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे दर्ज

मनोज उनियाल की रिपोर्ट शिमला।। हिमाचल प्रदेश में शीतलहर कहर बरपा रही है। पहाड़ी इलाकों में बर्फ़बारी की वजह से अनेक स्थानों में तापमान माइनस में पहुंच गया है। छह जिलों के आठ शहरों का न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे दर्ज किया गया। राजधानी शिमला में बर्फ़बारी और ठंड से जनजीवन प्रभावित हो रहा है।
 | 
छह जिलों के आठ शहरों का न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे दर्ज

मनोज उनियाल की रिपोर्ट 

शिमला।। हिमाचल प्रदेश में शीतलहर कहर बरपा रही है। पहाड़ी इलाकों में बर्फ़बारी की वजह से अनेक स्थानों में तापमान माइनस में पहुंच गया है। छह जिलों के आठ शहरों का न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे दर्ज किया गया। राजधानी शिमला में बर्फ़बारी और ठंड से जनजीवन प्रभावित हो रहा है। पिछले तीन दिनों से शिमला का तापमान माइनस में बना हुआ है।
बर्फ़बारी के कारण राज्य की 102 सड़कें रविवार को अवरुद्ध रहीं। इनमें दो राष्ट्रीय राजमार्ग भी शामिल हैं। शिमला जिले में सर्वाधिक 70 सड़कें बंद हैं। चंबा जिला के डलहौजी में 18, कुल्लू में 8 और मंडी में 4 सड़कों पर वाहनों की रफ्तार थमी रही। बर्फ़बारी से सड़कों व राष्ट्रीय राजमार्गों को 170 करोड़ रुपए के नुकसान का अनुमान है। मौसम विभाग ने शिमला सहित पर्वतीय इलाकों में 4 फरवरी को बर्फ़बारी की संभावना जताई है।
शिमला में खिली धूप
राजधानी शिमला में रविवार को धूप खिलने से अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी हुई। शिमला का अधिकतम तापमान 11.5 डिग्री रिकॉर्ड हुआ जबकि शनिवार को अधिकतम तापमान 7.6 डिग्री था। मौसम केंद्र शिमला के अनुसार मैदानों क्षेत्रों सहित राज्य के अन्य अधिकतर भागों में आठ फरवरी तक मौसम साफ बना रहेगा। मध्य पर्वतीय इलाकों में 4 फरवरी और उच्च पर्वतीय इलाकों में 4 तथा 6 फरवरी को हिमपात का अनुमान है।
केलांग राज्य में सबसे ठंडा
लाहौल-स्पीति जिले का मुख्यालय केलांग राज्य का सबसे ठंडा शहर रहा, जहां रविवार की सुबह न्यूनतम तापमान -15.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। इसके बाद किन्नौर जिला के कल्पा में पारा -6.4 डिग्री रहा। मनाली में पारा -4.6 और भुंतर में -0.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। शिमला के कुफरी में तापमान -4 और शिमला शहर में -0.8 डिग्री सेल्सियस रहा। मंडी जिले के सुंदरनगर में -0.6 डिग्री और चंबा जिला के डलहौजी में -0.1 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ। अन्य प्रमुख शहरों में पालमपुर में शून्य, सोलन में 1.5, चंबा में 1.8, कांगड़ा में 2, धर्मशाला में 2.4, हमीरपुर में 4.3, बिलासपुर में 4.5, ऊना में 5, मंडी में 5.3 और नाहन में 7.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

शिमला के निकट कुफरी में लोगों को फिसलन से बचाने के लिए बर्फ से ढकी सड़क पर रेत बिछाते जवान।

बर्फ में फंसे सैंकड़ों वाहन
राजधानी शिमला में बार-बार हो रही बर्फबारी पर्यटकों और आम लोगों के लिए मुसीबत बन गई है। शनिवार रात हुए हिमपात से पूरा शहर सफेद हो गया तथा विभिन्न सड़कों पर सैकड़ों वाहन बर्फ़बारी में घंटों फंसे रहे। इसके चलते पुलिस को रात भर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाना पड़ा। ढली से पर्यटन स्थल कुफरी तक लगे ट्रैफिक जाम में करीब 800 वाहन फंस गए। मशोबरा और टूटू में भी बर्फ़बारी में कई वाहन फंसे रहे। कुफरी में पुलिस के जवानों ने कड़ी मशक्क्त के बाद वाहनों को बर्फ से निकाल जाम खुलवाया। रेस्क्यू के दौरान कुफरी व ढली के बीच ठंडानाला नामक स्थान पर पुलिस का वाहन भी बर्फ से स्किड हो गया। इसमें एसएचओ ढली भी सवार थे। हालांकि किसी को भी चोटें नहीं आईं। पुलिस ने मशोबरा और ब्लदयां में बर्फ में फंसे 200 वाहनों काे भी रेस्क्यू करवाया। शिमला-मंडी एनएच-205 रविवार सुबह 4 बजे तक बहाल हो पाया। देर रात टूटू के समीप पावरहाउस नामक स्थान पर एक राहगीर बर्फ से फिसलकर खाई में जा गिरा। पुलिस ने उसे रेस्क्यू करवाया। शिमला के पुलिस अधीक्षक ओमा पति जंबाल ने कहा कि ऊपरी शिमला के प्रवेश स्थलों कुफरी, नारकंडा और खड़ापत्थर में सड़कें खुली हैं, मगर फिसलन बहुत ज्यादा है, ऐसे में चालक संभल कर वाहन चलाएं।