क्या गांव क्या शहर, हर तरफ़ बस वीरानियां ही पसरी पड़ी है

हिमाचल से रोहित/दीपक/सोहन सिंह की रिपोर्ट सोलन – जिन सड़कों पर वाहनों की लंबी-लंबी कतारें लगती थीं और जिन चौराहों पर लोगों का जमघट होता था। आज वे सभी वीरान हैं । चारों तरफ सन्नाटा पसरा हुआ है। ऐसा लग रहा कि यहां कोई रहता भी है या नहीं। कुछ ऐसा ही नजारा है, सोलन
 | 
क्या गांव क्या शहर, हर तरफ़ बस वीरानियां ही पसरी पड़ी है

हिमाचल से रोहित/दीपक/सोहन सिंह की रिपोर्ट

सोलन – जिन सड़कों पर वाहनों की लंबी-लंबी कतारें लगती थीं और जिन चौराहों पर लोगों का जमघट होता था। आज वे सभी वीरान हैं । चारों तरफ सन्नाटा पसरा हुआ है। ऐसा लग रहा कि यहां कोई रहता भी है या नहीं। कुछ ऐसा ही नजारा है, सोलन शहर का। यह सन्नाटा इस बात का सबूत है कि समस्त शहरवासी कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं और जनता कफ्र्यू का पालन कर रहे हैं।

बाजारों में सुबह से सन्नटा पसरा

रिवालसर – रिवालसर में कफ्र्यू जैसे हालात बात की ओर इशारा कर रहा है कि रिवालसर क्षेत्र की जनता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनता कफ्र्यू अपील का जोरदार सर्मथन किया है। गांव व बाजारों में सुबह से सन्नटा पसरा हुआ है। वाहनों की आवाजाही बंद है, लोग घरों में दुबके हुए हैं। रिवालसर बाजार पूरी तरह से बंद है। दवाइयों सहित अन्य सभी प्रकार की दुकानों में भी ताले लगे हुए।

क्या गांव क्या शहर, हर तरफ़ बस वीरानियां ही पसरी पड़ी है

समाचार पत्र तक नहीं पहुंचे

पंचरुखी, जयसिहंपुर – प्रधानमंत्री द्वारा रविवार को जनता कफ्र्यू की अपील पर पालमपुर के आसपास के क्षेत्रों पंचरुखी, जयसिंहपुर, लंबागांव आदि के हर छोटे-बड़े बाजार बंद रहे।क्या गांव क्या शहर, हर तरफ़ बस वीरानियां ही पसरी पड़ी है

जिन बाजारों व चौराहों पर रौनक होती थी, वहां इक्का-दुक्का व्यक्ति ही नजर आए। यहां पूरी तरह सन्नाटा छाया हुआ था। यहां पर कोई भी दुकान खुली नहीं थी न ही गाडिय़ां चल रही थींं। सड़कों पर पूरी तरह सन्नाटा पसरा हुआ था । कई क्षेत्रों में समाचार पत्र तक नहीं पहुंचे।

नगरी की सड़कें भी सुनसानी

नगरी – कोरोना वायरस के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर आज रविवार को नगरी, कलुंड गांवों में में जनता कफ्र्यू पूरी तरह से सफल रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से किए गए आह्वान के बाद क्षेत्र में जनता कफ्र्यू के चलते पूर्णतया सन्नाटा छाया रहा। बसों की आवाजाही भी पूर्णतया बंद रही। सभी लोगों ने अपने आप को घरों में ही बंद किया हुआ है। लोगों ने जनता कफ्र्यू का पूरा समर्थन किया है।