कठुआ पुलिस व जिला प्रशासन की अनोखी पहल, जेकेपी टीम का किया गठन

जिला भर के सभी लोगों के घर घर पहुंचाएगी राशन व जरूरी सामान ईशांत सूदन की रिपोर्ट कठुआ। कोरोना जैसी महामारी से निपटने के लिए और लोगों को घर के अंदर महफूज रखने के लिए कठुआ पुलिस ने जिला प्रशासन कठुआ से मिलकर एक अनोखी पहल की है जिसके चलते कठुआ के लोगों को उनके
 | 
कठुआ पुलिस व जिला प्रशासन की अनोखी पहल, जेकेपी टीम का किया गठन

जिला भर के सभी लोगों के घर घर पहुंचाएगी राशन व जरूरी सामान 

ईशांत सूदन की रिपोर्ट

कठुआ।  कोरोना जैसी महामारी से निपटने के लिए और लोगों को घर के अंदर महफूज रखने के लिए कठुआ पुलिस ने जिला प्रशासन कठुआ से मिलकर एक अनोखी पहल की है जिसके चलते कठुआ के लोगों को उनके दरवाजे पर हर जरूरी सामान मुहैया करवाया जाएगा। 

कठुआ पुलिस प्रमुख डर शैलेंद्र कुमार मिश्रा व जिलायुक्त कठुआ ओम प्रकाश भगत ने एक संयुक्त पत्रकार वार्ता का आयोजन कर ये जानकारी दी।

पत्रकार वार्ता के दौरान पुलिस प्रमुख ने बताया कि जिस तरह से लोग जरूरी सामान का बहाना बनाकर घरों से बाहर निकल रहें हैं और अपनी और अपने परिवार की जान को खतरे में डाल रहे हैं, उसे रोकने के लिए कठुआ पुलिस यूनाइटेड कठुआ नामक इस टीम का गठन किया है जो हर जरूरतमंद को उसके द्वार का हर जरूरी सामान उपलब्ध करवाएगी।  इसके लिए उन्हें बस यूनाइटेड कठुआ के हेल्पलाइन नं 9540501414 पर फोन करना होगा। 

उक्त जानकारी देते हुए जिलायुक्त कठुआ ने बताया कि इस टीम में लगभग 300 सदस्य हैं जो अलग अलग संस्था से सम्बंधित हैं और अब इक्कजुट होकर समाज के लिए काम करेंगे। 

पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए पुलिस प्रमुख ने कहा कि ये सेवा जिले भर के पांचो तहसीलों में जारी रहेगी और शहर-शहर गांव- गांव हर जगह इस टीम के सदस्य लोगों को समान मुहैया करवाएंगे। ये टीम दो शिफ्टों में काम करेगी। 

आपको बताते चलें कि कोरोना जैसी महामारी के चलते इस वक्त पूरे भारत में लॉक डाउन कर दिया गया है और केंद्रशासित प्रदेश जम्मू कश्मीर का प्रवेशद्वार लखनपुर इस वक्त सील कर दिया गया है।  बाहर से आने वाले हर शख्स को 14 दिनों के लिए संगरोध केंद्र में रखा जा रहा है जिसके चलते कठुआ में कोरोना को लेकर एतिहात बरतना और भी जरूरी है। 

इस वक्त कठुआ के विभिन्न संगरोध केंद्रों में लगभग 1600 लोगों को रखा गया है जिनकी देख रेख व रहने के लिए जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन हर उचित कदम उठा रहे हैं।