ऐसी नाराजगी देखी नहीं कभी

मनोज उनियाल की रिपोर्ट पंचायत को सेनेटाइज न करने से गगल के लोगो में पंचायत प्रतिनिधियों के प्रति गहरा रोष है, वहीं पंचायत प्रधान बजट न होने की बात कर रहे हैं। गगल निवासी अनुज कोहली का कहना है कि पंचायत को अपने स्तर पर यह जिम्मेदारी समझनी चाहिए। वीरेन कुंद्रा ने बताया कि प्रधान
 | 
ऐसी नाराजगी देखी नहीं कभी

मनोज उनियाल की रिपोर्ट

पंचायत को सेनेटाइज न करने से गगल के लोगो में पंचायत प्रतिनिधियों के प्रति गहरा रोष है, वहीं पंचायत प्रधान बजट न होने की बात कर रहे हैं। गगल निवासी अनुज कोहली का कहना है कि पंचायत को अपने स्तर पर यह जिम्मेदारी समझनी चाहिए। वीरेन कुंद्रा ने बताया कि प्रधान द्वारा गगल को सेनोटाइज करने की बात कही थी, लेकिन पंचायत ने अभी तक कुछ नहीं किया। समाजसेवी मोनू चड्ढा ने कहा कि जब से कफ्यऱ्ू लगा है, लोग घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं और कूड़ा घरों में ही पड़ा है। पंचायत को चाहिए कि वे लोगों की समस्याओं के बारे में गंभीरता से सोचें। उधर, पंचायत प्रधान ने बताया कि मंगलवार को ही उनको बीडीओ से आदेश मिले हैं और सेनोटाइजर के लिए कुटेशन ली हैं। जैसे ही सेनोटाइजर पंचायत को उपलब्ध होता है, गगल के हर वार्ड में छिड़काव करवा दिया जाएगा।