आखिर मृतक के सीने पर क्यों बैठा यह मासूम ?

एहसान अली की रिपोर्ट सोपोर। जम्मू-कश्मीर के बारामूला जिले के सोपोर कस्बे में आतंकियों ने सीआरपीएफ की पार्टी पर हमला किया। एक जवान शहीद हो गया। तीन घायल हैं। हमले की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिसमें एक बच्चा खून से लथपथ शव पर बैठा हुआ है। यह सोपोर का ही
 | 
आखिर मृतक के सीने पर क्यों बैठा यह मासूम ?

एहसान अली की रिपोर्ट

सोपोर। जम्मू-कश्मीर के बारामूला जिले के सोपोर कस्बे में आतंकियों ने सीआरपीएफ की पार्टी पर हमला किया। एक जवान  शहीद हो गया। तीन घायल हैं। हमले की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिसमें एक बच्चा खून से लथपथ शव पर बैठा हुआ है। यह सोपोर का ही नागरिक है, हमले में इनकी मौत हो गई। ऐसे में बताते हैं कि आखिर ये शख्स कौन है और हमले में इसे कैसे गोली लगी?

दूध लेने जा रहा था शख्स

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह शख्स (बशीर अहमद खान) सुबह-सुबह दूध लेने के लिए जा रहा था। साथ में 3 साल का नाती था। रास्ते में जाते वक्त ही आतंकियों ने सीआरपीएफ पार्टी पर हमला कर दिया, जिसमें से एक गोली इस शख्स को लगी और मौके पर ही दम तोड़ दिया।

नाना के शव पर बैठकर रोता रहा मासूम

गोली लगने के बाद 3 साल का मासूम अपने नाना के छाती पर बैठकर रोता रहा। वह नाना के सीने पर बैठकर उन्हें जगाता रहा। तभी एक जवान की नजर उसपर पड़ी। उन्होंने मासूम को इशारा कर अपने पास बुलाया, फिर आतंकियों से उसकी जान बचाई।

एक आधा खाया बिस्किट, खून से सना शर्ट और आंखों में आंसू

सुरक्षा बल ने मासूम को वहां से हटाया और अपने साथ जिप्सी में बैठाकर ले गए। मासूम की जो तस्वीर वायरल हो रही है, उसमें दिख रहा है कि बच्चे के हाथ में एक रूमाल, एक आधा खाया हुआ बिस्किट, खून से सना हुआ शर्ट और आंखों से आंसू है।

“मुझे नाना के पास जाना है”

मासूम का एक वीडियो भी वायरल हो रही है, जिसमें दिख रहा है कि मासूम रोते हुए जवानों से कह रहा है कि मुझे नाना के पास जाना है। तब सुरक्षा बल के जवान कह रहे हैं कि हां नाना के पास ले चलेंगे। जवान रोते हुए मासूम को चुप कराने की कोशिश कर रहे हैं।