Uttarpradesh

कार से लिफ्ट देकर लूट करने वाले चार गिरफ्तार

आदित्य मिश्र की रिपोर्ट

हरदोई – जिले मे  लूट की घटनाओं को अंजाम देने के लिए अपराधी किस प्रकार से नई नई तरकीबें इजात कर घटनाओं को अंजाम देते हैं इसकी एक झलक आज उस समय देखने को मिली जब पुलिस ने लिफ्ट देकर चलती कार में लूट की घटनाओं को अंजाम देने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ कर एक महिला सहित चार लुटेरों को गिरफ्तार कर लिया।
 एसपी राजेश द्विवेदी ने प्रेस वार्ता में जानकारी देते हुए बताया कि लिफ्ट देकर चलती कार में लूट की घटना को अंजाम देने वाले लूटेरे इतने शातिर थे कि किसी को शक ना हो इसके लिए वह एक महिला को भी अपने साथ रखते थे लेकिन वह कहते हैं ना कि अपराध करने वाला कोई न कोई अपना निशान छोड़ ही जाता है जिसके सहारे पुलिस उस तक पहुंच ही जाती हैं। इस मामले में भी कुछ ऐसा ही हुआ और आखिरकार हरदोई की बेनीगंज थाने की पुलिस और क्राइम ब्रांच लुटेरों तक पहुंच गई और एक महिला सहित चार लुटेरों को धर दबोचा। बतातें चलें कि 15 अप्रैल को कुंजविहारी मिश्र पुत्र बाबूलाल निवासी 2C/444 आवास विकास हंसपुरम नौबस्ता कानपुर ने बेनीगंज थाने में सूचना दी थी कि कानपुर जाने के लिये जब वह अतरौली तिराहा कोथावां में खड़ा था तो कुछ अज्ञात लोगों ने उसे कार में लिफ्ट देकर उसके 51,000 रूपये व मोबाइल फोन छीन लिया व उसके साथ मारपीट कर छोड़ कर फरार हो गये। कुंजबिहारी की सूचना पर बेनीगंज पुलिस ने तत्काल सुसंगत धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर घटना के खुलासे के लिए प्रयास करने शुरू कर दिये। इस दौरान 24 अप्रैल को पुलिस को मुखबिर से लुटेरों की सूचना मिली। सूचना मिलने के बाद पुलिस एक्टिव हुई और  नगवा मोड़ पर ऑल्टो कार (संख्या UP76 5 3737) को रोककर उसमें बैठे 03 पुरूष व 01 महिला की तलाशी ली। तलाशी के दौरान करन नाम के व्यक्ति की जामातलाशी मे 315 बोर का एक तमंचा, 02 जिन्दा कारतूस व 7,000 रूपये मिले। जब पुलिस दूसरे ने दूसरे युवक कुन्दन उर्फ करिया की जामातलाशी की तो उसके पास से 01 तमन्चा 12 बोर व 02 जिन्दा कारतूस व 7,000 रूपये नगद मिले तो वही तीसरे  रितेश कुमार उर्फ सचिन के पास भी 7,000 रुपये बरामद हुए।
कार में बैठी आरती पत्नी कुन्दन नाम की महिला की जब महिला सिपाही ने तलाशी ली तो उसके पास से 6,000 रूपये तथा कार की तलाशी में डैशबोर्ड से पन्नी में लिपटा करीब 150 ग्राम स्मैक पाउडर बरामद हुआ।
 चारों अभियुक्तों ने पूछताछ करने पर पुलिस को बताया कि  15 अप्रैल को उन चारों ने कोथावां से एक बुजुर्ग व्यक्ति
को कार में बैठाकर कुछ दूर आगे जाकर उसके 51,000 रूपये व मोबाइल छिनने के बाद बुजुर्ग को मारपीट कर छोड़ दिया था। पकड़े जयर लुटेरों ने बताया कि हम अपने साथ एक महिला इसलिए रखते है ताकि कोई भी सवारी
हमारे साथ आसानी से बैठ जाये। 
पुलिस ने बरामद कार को मौके पर ही धारा 207 एम0वी0 एक्ट सीज कर चारों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। लिया गया। एसपी ने आगे बताया कि अवैध शस्त्र व कारतूस तथा स्मैक की बरामदगी के सम्बन्ध में थाना हाजा पर अलग से मुकदमा पंजीकृत किये गये हैं।

Related Articles

Back to top button