दबंगों की मनमानी से तंग आ गया है ये परिवार, अधिकारी भी सुनने को तैयार नहीं

0
51
Ads by Eonads

रिपोर्ट- संजय सिंह राणा

चित्रकूट- प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत जहां सरकार गरीबों को आवास देने का काम कर रही है वहीं दूसरी ओर दबंगों की मनमानी के चलते एक गरीब व्यक्ति को घर का निर्माण नहीं करने दिया जा रहा है पीड़ित गरीब व्यक्ति जिम्मेदार अधिकारियों के दफ्तरों के चक्कर काटते हुए नजर आ रहा है जिसकी कोई सुनने वाला नहीं है l

मामला है चित्रकूट विधानसभा के बिरसिंहपुर तहसील के अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत हरदी का l

ग्राम पंचायत हरदी निवासी देवीदीन सतनामी ने जिम्मेदार अधिकारियों को पत्र के माध्यम से अवगत कराया कि कई पीढ़ियों से बने घर को कुछ दबंगों द्वारा गिरा दिया गया है व पीड़ित को प्रधानमंत्री आवास मिला था लेकिन दबंगों द्वारा बनाने नहीं दिया जा रहा है कई बार जिम्मेदार अधिकारियों से शिकायत करने के बावजूद भी मौके पर कोई जांच तक करने नहीं गया है जिसके कारण पीड़ित परिवार बड़े सक्ते में हैं पीड़ित परिवार के लोगों ने बताया कि दबंग लोग उसकी जान माल तक को खतरा पहुंचा सकते हैं लेकिन जब भी जिम्मेदार अधिकारियों से इस मामले में शिकायत की जाती है तो वह शिकायत ठंडे बस्ते में चली जाती हैं जिसके कारण पीड़ित परिवार काफी डरा सहमा हुआ है जब इस मामले की जानकारी भीम आर्मी भारत एकता मिशन के पदाधिकारियों को मिली तो भीम आर्मी के चित्रकूट विधानसभा अध्यक्ष इंद्रभान कोरी बरौंधा अध्यक्ष प्रदीप मूलनिवासी ,सौरभ वर्मा दीपक चौरसिया चंद्रभवन वर्मा सहित कई लोग मौके पर पहुंच कर पीड़ित परिवार से मुलाकात की व न्याय दिलाने का आश्वासन दिया l

चित्रकूट विधानसभा अध्यक्ष इंद्रभान कोरी ने कहा कि अगर शासन प्रशासन द्वारा जल्द इस मामले का निस्तारण नहीं किया गया तो भीम आर्मी भारत एकता मिशन धरना प्रदर्शन को बाध्य होगी व तब तक धरना प्रदर्शन करती रहेगी जब तक पीड़ित परिवार को न्याय नहीं मिल जाता है l

सबसे बड़ी सोचने वाली बात यह है कि एक तरफ जहां सरकार गरीब लोगों को आवास देने का काम कर रही है वह कानून व्यवस्था को लेकर कई तरह के दावे कर रही है वहीं दूसरी ओर विभागीय अधिकारियों की मनमानी के चलते इन गरीब लोगों को न्याय तक नहीं मिल पा रहा है l

सबसे बड़ा सवाल यह उठता है कि क्या इस गरीब पीड़ित व्यक्ति का आवास बन पाएगा या फिर इन दबंगों की मनमानी ऐसे ही चलती रहेगी l

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here